Meerut: 44 आरएएफ जवानों समेत ​230 नए कोरोना केस आए सामने, छुट्टी काटकर बटालियन लौटे थे

मेरठ में शुक्रवार को 222 और शनिवार को 230 कोरोना के नए केस मिलने से संक्रमण का अंदाजा लगाया जा सकता है। सोशल डिस्टेंसिंग की लगातार धज्जियां उड़ रही है। जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग संक्रमण को रोक पाने में असफल साबित हो रहे हैं। ​

0
207

मेरठ। 24 घंटै में 230 नए कोरोना केस मिलने से जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग में अफरातफरी मची हुई। इनमें से मेरठ स्थित 108वीं आरएएफ बटालियन के 44 जवान शामिल हैं। बताते हैं कि कुछ जवान छुट्टी काटकर बटालियन लौटे थे। उनके संक्रमित होने के कारण साथी जवानों में भी कोरोना संक्रमण फैल गया। नए 230 केस मिलने के बाद संक्रमितों का कुल आंकड़ा 5975 तक पहुंच गया है। साथ ही छह मरीजों की मुत्यु हो गई। अब कुल मरने वालों की संख्या 150 हो गई है। शनिवार को कुल 3200 सैंपलों की ​टेस्टिंग हुई। इनमें से 7.2 प्रतिशत लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है। अब 1561 मरीजों का इलाज अस्पतालों में चल रही है। 89 मरीजों की छुट्टी के साथ अब तक 4264 मरीजों को डिस्चार्ज किया जा चुका है।

यह भी पढ़ें: Bijnor: Corona की जांच के दौरान बदमाश हथकड़ी खोलकर फरार, पुलिस की चार टीमें खोजने में जुटीं

मेडिकल कालेज में जान गंवाने वालों में ​मेरठ के 48 वर्षीय व्यक्ति श्रद्धापुरी, 70 वर्षीय व्यक्ति मयूर विहार, 71 वर्षीय महिला किशोरीपुरा, 55 वर्षीय व्यक्ति, 65 वर्षीय महिला सिसौली और 58 वर्षीय व्यक्ति गंगानगर के रहने वाले थे। जनपद में कोरोना के खौफनाक संक्रमण ने सारे रिकार्ड तोड़ दिए हैं। पिछले दिन हीं 222 संक्रमित मिलने से नया रिकार्ड बनाया था, इसके बाद 230 मरीज मिलने के बाद नया रिकार्ड बन गया है। स्वास्थ्य विभाग सोशल डिस्टेंसिंग का पाठ लोगों को पढ़ा रहा है, लेकिन इसका कहीं भी असर नहीं है। संक्रमण को रोक नहीं पाने के कारण सीएम योगी आदित्यनाथ अफसरों पर खासे नाराज हैं। यही वजह है कि डीएम अनिल ढींगरा को उन्होंने मेरठ से हटाकर प्रतीक्षा सूची में डाल दिया है।

यह भी पढ़ें: Mission 2022 ​के लिए Congress ने यूपी में खेला ट्रंप कार्ड, ब्राह्मण वोट बैंक को फिर सहेजने की कवायद

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here