स्कूल प्रबंधक टॉयलेट में लगाता है सीसीटीवी कैमरे, शिक्षिकाओं ने लगाये आरोप

0
180

मेरठ। थाना सदर बाजार क्षेत्र स्थित ऋषभ एकेडमी स्कूल में उस वक्त हड़कंप मच गया जब शिक्षकों ने और स्कूल के सीए ने स्कूल प्रबंधक पर घोटाले और यौन शोषण का आरोप लगाते हुए हंगामा काटा।
स्कूल की शिक्षिकाओं का आरोप है कि स्कूल प्रबंधक रंजीत जैन लगातार उनका शोषण कर रहे हैं। उनको सैलरी नहीं दी जा रही। जब सैलरी मांगी जाती है तो रंजीत जैन अश्लील भाषा का इस्तेमाल शिक्षिकाओं से करते हैं यहां तक कि स्कूल के महिला शौचालय में भी रंजीत जैन ने सीसीटीवी कैमरे तक लगाए हैं तो वही स्कूल के सीए ने भी रंजीत जैन पर करोड़ों रुपए का घोटाले का आरोप लगाया है जिसको लेकर आज स्कूल में काफी देर तक हंगामा चला।

बता दे मेरठ कैंट में ऋषभ एकेडमी पब्लिक स्कूल है जिसके प्रबंधक रंजीत जैन है यह स्कूल जैन समाज के संस्था से जुड़ा हुआ है जिसमें हमेशा प्रबंधक जैन समाज से ही होते आए हैं वर्तमान में स्कूल का प्रबंधक रंजीत जैन है जो लगातार शिक्षिकाओं का शोषण करता है सैलरी मांगने पर उनको अश्लील भाषा का प्रयोग करते हुए यौन शोषण तक करता है जिस कारण शिक्षिकाएं अपना मानसिक संतुलन भी हो चुकी है और मानसिक तौर पर प्रताड़ित शिक्षिकाएं जब अपनी सैलरी मांगती है तो उनको सिर्फ आश्वासन के अलावा कुछ नहीं दिया जाता है। सतीश जैन की मानसिकता यही दर्शाती है कि वह महिलाओं के प्रति कितना गंभीर है क्योंकि उसने स्कूल परिसर में बने महिला शौचालय में भी सीसीटीवी कैमरे लगाए हैं। अश्लीलता की हद हो गई एक महिला शिक्षिका ने रंजीत जैन पर यौन शोषण के आरोप तक लगा डाले। शिक्षिका ने बताया कि जब स्कूल में जाकर रंजीत जैन से सैलरी मांगी जाती है तो वह अश्लीलता की हदें पार करते हुए अपनी गोद मे बैठाने की बात कर डालते हैं।

रंजीत जैन पर पहले भी आरोप लगते रहे हैं। जिस वक्त प्रदेश में योगी सरकार बनी थी तो रंजीत जैन ने अपने स्कूल के समस्त छात्रों को योगी स्टाइल में बाल कटाने का आदेश तक दे डाला था जिसके बाद स्कूल परिसर में अभिभावकों ने पहुंचकर हंगामा किया था यहां तक कि रंजीत जैन छात्रों को चप्पल से मारता था जिसका अभिभावकों ने कई बार विरोध भी किया था । अभीवाभको ने रंजीत जैन पर आरोप भी लगाया था कि फीस वसूली के नाम पर रंजीत जैन अवैध वसूली भी कर रहा है। हर बार बच्चे का नाम काटने की धमकी देकर फीस से अलग पैसा भी रंजीत जैन मांगता है। सारे आरोप जब से सही साबित हो गए। जब स्कूल के सीए ने ही करोड़ों रुपए के घोटाले का आरोप रंजीत जैन पर लगा दिया। यहां तक कि रंजीत जैन पर आरोप हैं कि वह स्कूल के पैसे को जुए सट्टे में भी बर्बाद कर रहा है।

रंजीत जैन जबसे ऋषभ एकेडमी पब्लिक स्कूल का प्रबंधक बना है। तभी से उसने अपने बेटे को भी इस घोटाले में शामिल कर लिया था। रंजीत जैन का बेटा अभिनव स्कूल परिसर में ही स्कूल के छात्रों को क्रिकेट खिलाने के नाम पर पैसा लिया ही करता था। यहां तक कि जो पहले स्कूल के अंदर खेल कोच था उसको भी हटा दिया गया और रंजीत जैन ने अपने बेटे अभिनव को स्कूल में स्पोर्ट्स टीचर के तौर पर रख लिया जबकि इसका फैसला कमेटी करती है लेकिन उसके बावजूद रंजीत का बेटा भी उसके घोटाले में बराबर का हिस्सेदार है। दोनों बाप बेटे ने मिलकर स्कूल से करोड़ों रुपए का घोटाला कर दिया अब जब शिक्षक अपनी सैलरी मांग रहे हैं तो उनको अश्लीलता से बात करता रंजीत जैन दिखाई दे रहा है। एक महिला शिक्षिका को जबरदस्ती गोद में बैठाने का कार्य भी रंजीत जैन ने किया जिसके बाद सैकड़ों की संख्या में महिलाएं और महिला शिक्षिकाएं थाने में पहुंची और हंगामा किया। मेरठ के सदर थाना पुलिस दोनों बाप बेटे को पकड़कर थाने में ले आए अब यह तो स्कूल परिसर के अंदर महिलाओं के साथ जिस तरीके का व्यवहार रंजीत जैन कर रहा था यह योगी सरकार के आदेशों के खिलाफ है क्योंकि प्रदेश सरकार महिलाओं का उत्पीड़न ना हो और भयमुक्त समाज देने की पूरी कोशिश महिलाओं को प्रदेश सरकार देने की तैयारी में है इस तरीके के समाज के ठेकेदार बनने वाले रंजीत जैन जैसे आरोपियों पर थाना पुलिस महिला उत्पीड़न और घोटाले में क्या कार्यवाही करती है यह तो आने वाला समय ही बताएगा।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here