विधुत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के तत्वावधान में विधुत सुधार संगोष्ठी का हुआ आयोजन

0
201

मेरठ। विधुत व्यवस्था में सुधार के लिए विधुत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति की ओर से एक संगोष्ठी आयोजित की गई। संगोष्ठी में सुधार के उपाय हेतु समिति के पदाधिकारियों ने अपने विचार रखे।
विधुत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के केन्द्रीय पर्यवेक्षक ईजीनियर प्रभात सिंह और ईजीनियर जयप्रकाश के नेतृत्व में एमडी कार्यालय परिसर में विधुत व्यवस्था सुधार संगोष्ठी का आयोजन किया गया। संगोष्ठी में समिति के पदाधिकारियों ने विधुत व्यवस्था कैसी हो इस पर अपने विचार प्रकट ​किये। संगोष्ठी में बेहतर उपभोक्ता सेवा, राजस्व वसूली मे वृद्धि के उपाय व ट्रांसफार्मरों के क्षतिग्रस्तता को रोकने के उपाय पर विस्तार से चर्चा की गई।
विधुत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के बैनर तले बिजली निजीकरण का विरोध कर 6 अक्टूबर को एमडी कार्यालय पर कार्य बहिष्कार कर धरना प्रदर्शन किया गया था। जिसमें समिति के शीर्ष पदाधिकारियों की उर्जा मंत्री से वार्ता के बाद पूर्वांचल में निजीकरण को वापस लिया गया था।
विधुत वितरण निगमों में चल रही व्यवस्था में सुधार के लिए सेामवार को एक सुधार संगोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें समिति के केन्द्रीय पर्यवेक्षक सहित तमाम पदाधिकारियों ने भाग लिया। कार्यक्रम के अंत में समिति के केन्द्रीय पर्यवेक्षक की ओर से सभी को शपथ दिलाई गई कि उर्जा क्षेत्र में बेहतर उपभोक्ता सेवा मन, वचन, कर्म से की जायेगी। संगोष्ठी में समिति के सभी जिलों के संयोजक एवं सहसंयोजक व अन्य घटक संघों के अध्यक्ष व सचिवों ने हिस्सा लिया।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here