खुफिया नजर में आपका हर कमेंट, किसी भी गलत कमेंट पर जा सकते हैं जेल

आजादी के जश्न पर खतरे का अलर्ट, सोशल मी़डिया पर चौकसी

0
171

मेरठ। 15 अगस्त को लेकर खुफिया विभाग ने social media पर निगरानी बढ़ा दी है। जी हां आपका एक गलत पोस्ट या कमेंट आपको जेल की हवा भी खिला सकता है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को सोशल साइट्स पर निगरानी करने के आदेश जारी किए हैं। सूत्रों के मुताबिक आतंकी संगठन की नजर दिल्ली एनसीआर और वेस्ट यूपी पर है। जिसको लेकर facebook, twiter, watsap खुफिया विभाग ने नजर पैनी की है।

एक रिपोर्ट के मुताबिक वेस्ट यूपी के 6 बड़े जिलों की डेढ करोड़ आबादी में लगभग 60 लाख यूथ social media पर एक्टीव है। कुल 35 लाख की आबादी वाले मेरठ जिले में लगभग 12 लाख यूथ social media पर एक्टीव है। अरब और आस-पास के कई अरब देशों के स्टूडेंट्स मेरठ के प्राइवेट कालेजों में पढाई कर रहे हैं। lockdown के चलते आधे से ज्यादा स्टूडेंट्स अभी भी मेरठ में हैं। खुफिया विभाग ऐसे स्टूडेंट्स की गतिविधियों पर पैनी नजर रखे हुए हैं। क्योंकि मेरठ में कई बार आतंकी इनपुट मिल चुका है। 16 नवंबर 2015 को भी विदेशी जासूस एजाज का मेरठ से गिरफ्तार होना इसका प्रमाण है।

पहले जुड़े रहे हैं आतंकियों से तार

वेस्ट यूपी पहले भी आतंकियों की शरणस्थली रहा है। कई साल पहले अब्दुल करीम टूंडा तीन पाक आतंकियों के साथ बुलंदशहर आया था। 2008 में दिल्ली ब्लास्ट में शामिल रहे आतंकियों में बुलंदशहर का शकील भी था। 2008 तक उसका नाम वोटर लिस्ट में था। 16 जनवरी 2015 को मेरठ के गंगानगर में फर्जी सेटप मिला था। जहां फर्जी टेलीफोन एक्सचेंज चल रहा था। इसका खुलासा बीएसएनएल के दिल्ली अधिकारियों ने किया था।

बजरंग दल कार्यकर्ता ने मेरठ में धार्मिक स्थल पर लगाया भगवा झंडा, तनाव

खानी पड़ सकती है जेल की हवा

साइबर सेल के मुताबिक किसी भी गलत कमेंट पर संबंधित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेजने की कार्रवाई की जाएगी। क्योंकि आजकल सोशल साइट्स पर काफी आतंकियों के जु़ड़े होने का इनपुट है। जो वहीं से कोडवर्ड में अपने आदमियों तक अपनी बात पहुंचाते हैं। दिल्ली एनसीआर और वेस्ट यूपी के सभी सोशल साइट्स यूजर पर सेल की पैनी नजर है। साइबर सेल मेरठ प्रभारी नें बताया कि 15 अगस्त को लेकर social saites पर नजर पैनी कर दी गई है। हर संदिग्द पोस्ट को बारीकी से चैक किया जा रहा है ।

 

 

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here