यूपी में दो से ज्यादा बच्चों वाला नहीं बन पाएगा प्रधान? त्रिस्तरीय चुनावों में हो सकता है बड़ा बदलाव

अप्रैल 2021 में हो सकते हैं त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव, न्यूनतम योग्यता भी होगी तय

0
193

lucknow: यूपी में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (Panchayat Election) को लेकर योगी सरकार जल्द ही बड़ा फैसला ले सकती है। बताया जा रहा है कि जनसंख्या नियंत्रण करने के लिए योगी सरकार नया तरीका इजाद कर सकती है। दो बच्चो से ज्यादा वाले लोग चुनाव में प्रत्याशी नहीं बन पाएंगे। यही नहीं चुनाव लड़ने के लिए न्युनतम योग्यता भी तय कर दी गई है। सूत्रों का दावा है त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में बड़े बदलाव के लिए अधिकारियों से वार्ता हो चुकी है। ओपचारिक घोषणा होना बाकी है।

पति के नाम का Fake Passport बनवाकर प्रेमी संग Australia घूम आई पत्नी

सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि जनसंख्या नियंत्रण (Population Control) को प्रोत्साहन देने के लिए सरकार दो से अधिक बच्चों वाले उम्मीदवारों के पंचायत चुनाव लड़ने पर रोक लगा सकती है। इसके अलावा सरकार उम्मीदवारों की न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता भी तय करने की तैयारी में है। यानी अनपढ़ और कम पढ़े लिखे लोग अब चुनाव नही लड़ पाएंगे। कैबिनेट के माध्यम से इस प्रस्ताव को जल्द ही मंजूरी दी जा सकती है।

7 सितंबर से कर सकेंगे मेट्रो की सवारी, जानिए क्या है unlock 4 की गाइडलाइन

शैक्षिक योग्यता भी तय

नए नियम में उम्मीदवारों की शैक्षणिक योग्यता को लेकर भी दिशा निर्देश तय किए जा रहे है। बताया जा रहा है ग्राम पंचायत चुनाव में महिला और आरक्षित वर्ग के लिए न्यूनतम शैक्षिक योग्यता 8वीं पास होगी, जबकि 12वीं पास उम्मीदवार ही जिला पंचायत सदस्य का चुना लड़ सकेंगे। जिला पंचायत के लिए महिला, आरक्षित वर्ग और क्षेत्र पंचायत के लिए न्यूनतम 10वीं पास होने पर सरकार में सहमति भी बन चुकी है।  यूपी के पंचायती राज्य मंत्री खुद इसके पक्षधर हैं। इसके अलावा केंद्रीय राज्य मंत्री संजीव बालियान समेत अन्य नेता भी इस बाबत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिख चुके हैं। सूत्रों की मानें तो उम्मीदवारों की शैक्षणिक योग्यता को लेकर भी दिशा निर्देश तय किए जा रहे हैं। हालांकि इस मामले में आखिरी फैसला मुख्यमंत्री को ही लेना है।

बता दे कि अप्रैल 2021 में प्रस्तावित त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों की तैयारियां की जा रही है। लेकिन इससे पहले ही सराकर नया कानून लागू करने की तैयारी कर रही है। इससे पहले कोरोना महामारी के चलते यूपी में तय समय पर पंचायत चुनाव की तैयारियां पूरी नही हुई हैं। जिसके चलते चुनाव की तिथि आगे बढ़ा दिया गया है।

Exclusive: दफ्तर के बाद गांवों में पर्यावरण चौपाल लगाता एक अफसर, दिलाता है पौधारोपण की शपथ

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here