नई दिल्ली| भारत में लोकप्रिय भक्ति गायन को फिर से परिभाषित करने वाले गायक नरेंद्र चंचल अब नहीं रहे। खबरों के मुताबिक, नरेंद्र चंचल का शुक्रवार को यहां 80 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। लता मंगेशकर, दलेर मेहंदी और मधुर भंडारकर जैसी हस्तियों ने दिवंगत गायक को श्रद्धांजलि दी है। सत्तर और अस्सी के दशक में चंचल ने अपने ‘जागरण’ हिट्स के साथ प्रसिद्धि प्राप्त की। विशेष रूप से शेरावाली माता को समर्पित गाने के लिए उन्हें लोकप्रियता हासिल हुई। शेरावाली माता के लिए उनका गीत ‘चलो बुलावा आया है’ आज तक लोकप्रिय है। चंचल को उनके लाइव पफरेमेंस के लिए जाना जाता है।

किसानों और सरकार के बीच बातचीत पटरी से उतरी, 11 वें दौर में सिर्फ लंच तक चली मीटिंग

गायक ने बॉलीवुड में भी अपनी पहचान बनाई। उन्हें 1974 में अमिताभ बच्चन की फिल्म ‘बेनाम’ के शीर्षक गीत को प्रस्तुत करने के लिए जाना जाता है, जिसे आरडी बर्मन ने संगीतबद्ध किया था। उसी वर्ष, उन्होंने फिल्म ‘रोटी कपड़ा और मकान’ के लिए ‘महंगाई मार गई’ भी गाया। उन्होंने 1980 की हिट फिल्म ‘आशा’ के लिए मोहम्मद रफी के साथ ‘तू ने मुझे बुलाया’ भी गाया। पाश्र्वगायिका लता मंगेशकर ने उनके निधन पर दुख व्यक्त किया, उन्होंने ट्वीट कर कहा, “वह बहुत अच्छे इंसान थे।” उन्होंने उम्मीद जताई कि वह अब शांति से आराम करेंगे।

Lucknow पहुंचे भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, अशोक कटारिया समेत इन नेताओं ने किया स्वागत

गायक-संगीतकार विशाल ददलानी ने साझा किया, ” नरेन्द्र चंचल जी को उनके द्वारा गाए गए गीतों के माध्यम से हमेशा याद किया जाएगा। मुझे संदेह है कि पहाड़ियों से गूंजती उनकी आवाज सुने बिना कोई भी कभी भी वैष्णोदेवी तक जाएगा।” अभिनेता मनोज बाजपेयी ने ट्वीट किया, ” प्रेरक आवाज के साथ एक बेहतरीन गायक। भगवान आपकी आत्मा को शांति प्रदान करें।” फिल्म निर्माता मधुर भंडारकर ने ट्वीट किया , “नरेंद्र चंचल जी के निधन की खबर सुनकर दुखी हूं। उन्हें हिंदी फिल्मों में उनके भजन और कुछ उल्लेखनीय गीतों के लिए याद किया जाएगा।” गायक दलेर मेहंदी ने कहा, “यह जानकर बहुत दुखी हूं कि प्रसिद्ध और लोकप्रिय नरेंद्र चंचल हमें छोड़कर चले गए। उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना। उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति संवेदना।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here