Shri Ram Mandir में लगेगी UP की मिट्टी, Meerut के धार्मिक स्थलों से जाएंगे तीन कलश

0
231

मेरठ। श्रीराम जन्म भूमि अयोध्या में लंबे समय से प्रतिक्षित श्री राम के भव्य मंदिर निर्माण की घड़ी नजदीक आन पहुंची है। पांच अगस्त के पावन दिन को राम मंदिर निर्माण की नींव रखी जाएगी। राम मंदिर के निर्माण की सबसे खास बात यह रहेगी कि इसके लिए उत्तर प्रदेश के तमाम जिलों से मिट्टी मंगवाई जाएगी। इस मिट्टी का इस्तेमाल मंदिर ​के निर्माण में किया जाएगा। इस क्रम में मेरठ के कई धार्मिक स्थलों से मिट्टी के कलश भरकर अयोध्या जाएंगे। इन धार्मिक स्थलों में मेरठ का प्रसिद्ध औघड़नाथ मंदिर, पवित्र तीर्थ स्थली गगोल व प्रसिद्ध बालाजी व शानि धाम शामिल हैं।

विहिप के गोपाल शर्मा ने कहा अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण हो इसके लिए हिंदू समाज ने एक लंबे कालखंड तक लड़ाई लड़ी है और इस लड़ाई को जब से विश्व हिंदू परिषद ने अपने हाथ में लिया है तबसे इसमें इस आंदोलन में तीव्र गति आई। पूज्य अशोक सिंघल जी का सपना था कि श्री राम जन्मभूमि पर भव्य राम मंदिर का निर्माण हो,पूज्य अशोक सिंघल जी के सपने को राम भक्त Prime Minister Narendra Modi जी की सरकार में माननीय Supreme court के द्वारा राम मंदिर के पक्ष में निर्णय दिया गया। आज यह बड़े हर्ष का विषय है कि 5 अगस्त को राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन किया जाएगा। कोरोना महामारी के चलते मेरठ के वासियों के लिए यह तो संभव नहीं हो पाया कि वह इस भूमि पूजन में उपस्थित रह सकें, इसलिए मेरठ वासियों ने मेरठ के तीन पवित्र धार्मिक स्थलों की मिट्टी को अयोध्या के लिए भेज दिया है। अयोध्या में शीघ्र राम मंदिर का निर्माण हो इसके लिए गोपाल शर्मा के नेतृत्व में वर्ष 2018 में 150 विहिप, बजरंगदल के कार्यकर्ता मेरठ से चलकर हरिद्वार से राम मंदिर मॉडल की कांवड़ लेकर आये और प्रसिद्ध औघड़नाथ मन्दिर पर जल चढ़ाया ओर बाबा भोलेनाथ ने एक वर्ष में ही मनोकामना पूर्ण की ओर राम मंदिर के पक्ष में निर्णय आ गया।

इस वर्ष राम मंदिर की कावड़ का जोड़ा पूरा करना था लेकिन Corona महामारी के चलते संभव नहीं हो पाया। अगले वर्ष परिस्थिति अनुकूल रही तो राम मंदिर की कावड़ का जोड़ा पूरा करेंगे। गोपाल शर्मा ने कहा यह राम राज्य की स्थापना होने जा रही हैं। 5 अगस्त को संपूर्ण देश के अंदर भूमि पूजन को दीपावली पर्व की तरह मनाएगा। इस मौके पर मुख्य रूप से शिव दास जी महाराज, महामंडलेश्वर महेन्द्रदास जी महाराज, पवन कश्यप, हिमांशु शर्मा, अर्चित जैन, अमित त्यागी, सचिन कंसल, अंकित त्रिपाठी, गौरव प्रताप व अन्य कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here