लखीमपुर खीरी में पूर्व विधायक की हत्या पर विपक्षी दलों में उबाल, कहा- यूपी में कानून व्यवस्था हो चुकी ध्वस्त

जमीन पर कब्जेदारी के विवाद के दौरान मारपीट भी हुई, जिसमें पूर्व विधायक के साथ भी धक्का-मुक्की हुई और मारपीट की गई। इसी दौरान उनकी हालत बिगड़ी।

0
106

लखनऊ। लखीमपुर खीरी में पूर्व विधायक निर्वेंद्र कुमार मिश्रा उर्फ मुन्ना की जमीन विवाद में रविवार को हमले के दौरान मौत हो गई। साथ ही उनके बेटे को पीट-पीटकर अधमरा कर दिया। उसे गंभीर अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया ​है। बेटे ने दूसरे पक्ष द्वारा पीट-पीटकर हत्या करने का आरोप लगाया है। इसके बाद से विपक्षी दलों ने योगी सरकार पर हमला बोल दिया है। विपक्ष ने प्रदेश की कानून-व्यवस्था को पूरी तरह से ध्वस्त बताने के साथ ही लखीमपुर में बीते 15 दिन के ही अपराध को नजीर बताया है। बसपा सुप्रीमो मायावती के साथ ही समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव, उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू तथा पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद ने विधायक की मौत को हत्या बताया है।

यह भी पढ़ें: Meerut: कोरोना के नए 129 केस मिले, संक्रमितों में सिटी मजिस्ट्रेट और चार डॉक्टर भी शामिल

अखिलेश यादव ने कहा कि पुलिस की उपस्थिति में आज दिनदहाड़े लखीमपुर में तीन बार के विधायक रहे श्री निर्वेन्द्र मुन्ना जी की निर्मम हत्या व उनके पुत्र पर हुए कातिलाना हमले से प्रदेश हिल गया है। श्रद्धांजलि! भाजपा के राज में प्रदेश की जनता कानून-व्यवस्था के विषय पर चिंतित ही नहीं, भयभीत भी है। निंदनीय!। मायावती ने कहा कि यूपी लखीमपुर खीरी के पूर्व विधायक निर्वेन्द्र कुमार मिश्र उर्फ मुन्ना की निर्मम हत्या व इसी जिले में छात्रा की दुष्कर्म के बाद फन्दा लगाकर की गई हत्या की घटनायें अति-दु:खद व चिन्ताजनक। सरकार दोषियों के खिलाफ ऐसी सख्त कार्रवाई करे जिससे ऐसी दर्दनाक घटनायें प्रदेश में रुकें।

यह भी पढ़ें: Meerut: गर्मी और उमस से बढ़ी मुश्किलें, बारिश के लिए अभी तरसेंगे लोग

यह है पूरा मामला
रविवार को लखीमपुर के थाना संपूर्णानगर क्षेत्र के त्रिकौलिया पढ़ुवा में जमीनी विवाद में दो पक्ष भिड़ गए। इसमें एक पक्ष पलिया का और दूसरा पक्ष पूर्व विधायक निर्वेंद्र कुमार मिश्रा उर्फ मुन्ना का था। यहां पर जमीन पर कब्जेदारी के विवाद के दौरान मारपीट भी हुई, जिसमें पूर्व विधायक के साथ भी धक्का-मुक्की हुई और मारपीट की गई। इसी दौरान उनकी हालत बिगड़ी। उन्हेंं अस्पताल ले जाया जा रहा था रास्ते में ही उनकी मौत हो गई। पुलिस का कहना है कि विवाद के दौरान पूर्व विधायक को हार्टअटैक पड़ा। इससे उनकी मौत हो गई, जबकि पूर्व विधायक के पुत्र ने उनकी पीट—पीटकर हत्या किए जाने का आरोप लगाया है। सूचना पाकर पहुंची पुलिस पड़ताल में जुट गई है। इस मामले में पुलिस पर दबंगों से मिलीभगत का आरोप है। लखीमपुर खीरी की निघासन विधानसभा से निर्वेंद्र कुमार मिश्रा उर्फ मुन्ना तीन बार के निर्दलीय विधायक रहे है। बताते हैं कि कई साल पहले पूर्व विधायक ने अपनी साढ़े तीन एकड़ जमीन किसी के हाथ बेची थी। जिसने जमीन खरीदी थी उसने जमीन की पैमाइश के लिए अर्जी डाली थी। इसकी पैमाइश हुई तो वह जमीन साढ़े तीन की जगह साढ़े चार एकड़ निकली। पूर्व विधायक का कहना था कि उन्होंने जितनी जमीन बेची है उतने पर ही कब्जा हो, जबकि दूसरा पक्ष पूरी जमीन पर काबिज होना चाहता था।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here