1 अक्टूबर से स्मार्ट हो जाएगा परिवहन विभाग, वाहन स्वामी को कागज रखने की नहीं होगी जरुरत

ड्राइवर्स का शोषण हो जाएगा बंद, बिना किसी भय के चला सकेंगे वाहन

0
289

MEERUT। अगर आप भी वाहन लेकर सड़कों पर फर्राटा भरते हैं तो ये खबर आपके बहुत काम की है। 1 अक्टूबर से आपको वाहन में कागज रखने की जरुरत नहीं होगी। क्योंकि परिवहन विभाग अब स्मार्ट हो गया है। ट्रैफिक कर्मी या आरटीओ विभाग के अधिकारी मोबाइल पर सॅाफ्टवेयर के माध्यम से आपके सभी कागजों की पड़ताल कर लेंगे। आपकी आरसी सहित इंश्योरेंस व अन्य डॅाक्यूमेंट की जांच भी मोबाइल सॅाफ्यवेयर के माध्यम से हो जाएगी।

Information Technology portal पर डाटा होगा अपलोड़

विभागीय जानकारी के मुताबिक ड्राइविंग लाइसेंस, ई चालान समेत सभी उपरोक्त दस्तावेज का रख रखाव एक अक्टूबर से का होगा। प्रदेश के सभी वाहनों का डाटा पोर्टल पर अपलोड कर दिया जाएगा। इसके बाद आपको अपने वाहन में कागज रखने की बिल्कुल जरुरत नहीं होगी। विभागीय अधिकारी उसी के माध्यम से आपके सभी कागजों की जांच अपने मोबाइल से ही कर लेंगे। इसके अलावा बेवजह सड़क पर पैसे देने का काम भी खत्म हो जाएगा। क्योंकि कोई भी अधिकारी कागज न होने पर आपकी गाड़ी को नहीं पकड़ सकेगा।

कुख्यातों पर एक्शन: मेरठ में भी योगेश भदौड़ा ​की चार करोड़ रुपये की अवैध सम्पत्ति कुर्क

new मोटर व्हीकल एक्ट में बदलाव

सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्रालय ने इस नए नियम को नोटिफाई कर दिया है। नए नियम के मुताबिक गाड़ी चलाते समय हाथ में मोबाइल फोन का इस्तेमाल केवल रूट नेविगेशन (route navigation) के लिए इस तरह से किया जाएगा कि वाहन चलाते समय ड्राइवर का ध्यान भंग न हो। हालांकि, ड्राइविंग करते समय मोबाइल से बात करने पर 1 हजार से 5 हजार रुपये तक का जुर्माना लगाया जा सकता है।यह नियम पिछले साल मोटर व्हीकल एक्ट में किए गए बदलाव से जुड़े हैं। एक्ट के कुछ नियम पिछले साल लागू हो गए थे। बयान के मुताबिक, आईटी सर्विस और इलेक्ट्रॉनिक मॉनिटरिंग के इस्तेमाल से देश में ट्रैफिक से जुड़े नियम बेहतर तरीके से लागू होंगे। साथ ही ड्राइवरों के उत्पीड़न पर रोक लगेगी।

Privatization के खिलाफ जनप्रतिनिधियों से मिले बिजली कर्मचारी, ज्ञापन सौंपकर रखी अपनी मांगे

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here