Meerut: स्मृति का कांग्रेस पर हमला- बोलीं क्या राहुल, सोनिया किसान हैं?

केंद्रीय कपड़ा एवं महिला बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी पर निशाना साधा

0
288

मेरठ। केंद्रीय कपड़ा एवं महिला बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी पर निशाना साधा और कहा कि 40 इंच का आलू पैदा करने वाले क्या किसान हैं? स्मृति ईरानी शुक्रवार को मेरठ में भारतीय जनता पार्टी के किसान सम्मेलन में मुख्य वक्ता के रूप में बोल रही थीं। इस दौरान उन्होंने कहा कि, “किसान बिल को लेकर विपक्षी नेता कह रहे हैं कि जिन्हें खेती-किसानी की जानकारी नहीं वह लोग बिल तैयार कर रहे हैं, तो मैं उनसे पूछना चाहती हूं कि राहुल गांधी क्या किसान हैं? सोनिया गांधी क्या किसान हैं? अमेठी में किसानों की क्या दुर्दशा रही और 50 साल तक एक ही परिवार वहां पर राज करता रहा, लेकिन आज वहां का किसान खुशहाली की तरफ बढ़ रहा है।”

उन्होंने कहा कि, “जिन लोगों ने 70 साल में सिर्फ किसानों का उत्पीड़न किया है, वह आज अपनी राजनीतिक भूमि की शक्ति देख उनके हित का ढोंग रच रहे हैं। किसानों के लिए वास्तव में कुछ किया है तो प्रधानमंत्री मोदी हैं।” केंद्रीय मंत्री ने कहा कि, “भाजपा सरकार ही है जिसने खेतों में शौच करने के लिए जाने वाली महिलाओं को घर में शौचालय उपलब्ध कराए।

आयुष्मान भारत योजना से जोड़ा, किसानों को पेंशन दी, उनके कर्ज माफ किए हैं और अब इस बार किसान हित में एक लाख 30 हजार करोड़ रुपए का बजट स्वीकृत किया है।” स्मृति ईरानी ने कहा कि, “भाजपा सरकार ने हमेशा किसान हितों को सामने रखते हुए काम किया है। चाहे वह गन्ना भुगतान का मामला रहा हो या फिर कृषि संबंधी अन्य योजनाएं।”

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि, “एमएसपी को लेकर विपक्षी दल किसानों को भ्रमित कर रहे हैं। वहीं किसानों को भी यह समझना चाहिए कि पहले वह अपनी उपज जनपद के भीतर ही भेजने को मजबूर होते थे, लेकिन आज पूरे देश में कहीं भी बेरोकटोक ले जा सकते हैं और दाम तय करने का अधिकार भी किसान के पास होगा, तो इससे किसान को आजादी तो मिली ही है, वे उन्नति के पथ पर भी आगे बढ़ेंगे।”

केंद्रीय राज्यमंत्री डॉ. संजीव बालियान ने कहा कि, “पश्चिमी उत्तर प्रदेश का किसान संपन्न है और वह समझता है कि बिल उसके पक्ष में हैं। जो लोग विरोध कर रहे हैं और विरोध कहां से पैदा हो रहा है, यह भी अब किसानों की समझ में आ गया है। यह सब एक राजनीति का हिस्सा है, क्योंकि उनकी राजनीतिक जमीन खिसक चुकी है।”

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here