Kanpur Encounter: आखिर कौन था बिकरू नरसंहार का प्रमुख कारण, हुआ खुलासा

बिकरू नरसंहार में आठ पुलिसकर्मी मारे गए थे

0
286
कानपुर। कानपुर के  और उसके गुर्गों के एनकाउंट के बाद भी बिकरू नरसंहार से जुड़े रोजाना नए-नए तथ्य सामने आ रहे हैं। अब उस घटना का खुलासा हुआ जो सबके दिमाग की उलझन बना हुआ था। दरअसल, पिछले दिनों उत्तर प्रदेश के चित्रकूट से गिरफ्तार किए गए विकास दुबे का करीबी बाल गोविंद दुबे ने कबूल किया कैसे वह और उसका दामाद विनीत 3 जुलाई को हुए बिकरू नरसंहार का कारण बने थे। आपको बता दें कि इस सामुहिक हत्याकांड में आठ पुलिसकर्मी मारे गए थे।

Lockdown में पार्टी करते 54 दबोचे, birthday के मौके पर resturant में कर रहे थे पार्टी

टिक-टॅाक के बाद alibaba.com को भी बैन कर सकता है अमेरिका

गोविंद दुबे ने एसटीएफ से पूछताछ में बताया कि विकास दुबे के खिलाफ शिकायत करने वाले राहुल तिवारी और का उनके दामाद विनीत के साथ प्रोपर्टी को लेकर झगड़ा चल रहा था। इसी शिकायत पर बिकरू पुलिस रेड डालने गई थी। इस बीच उसने विकास दुबे के साथ मिलकर पुलिसकर्मियों पर हमला किया था। एसटीएफ एक सीनिया अफसर ने खुलासा करते हुए बताया कि प्रोपर्टी के विवाद के अलावा इस साल अप्रैल में बाल राहुल ने गोविंद दुबे के दामाद की बहन के साथ कथित तौर पर भागकर शादी कर विवाद और बढ़ा लिया लिया था। इस विवाद के चलते राहुल ने विनीत की भैंस को अवैध रूप से बेच डाला था। जिसे लेकर चौबेपुर पुलिस थाने में एक अलग मामला दर्ज किया गया था।

नोए़डा में युवती को शराब पिलाकर RAPE, पीडिता ने थाने दर्ज कराई रिपोर्ट

एसटीएफ के अफसर ने बताया कि बिकरू नरसंहार के दो दिन पहले ही जुलाई में पुलिस ने राहुल को गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस राहुल को आगे की पूछताछ के लिए बाल गोविंद के घर ले गई थी, इस दौरान वहां पर विकास दुबे और उसके पांच सााथी भी मौजूद थे। इस दौरान विकास ने जेल में बंद चौबेपुर के थानेदार विनय तिवारी के मोबाइल फोन को छीन लिया और राहुल तिवारी की पिटाई कर दी। पुलिस ने जल्दबाजी में राहुल को थाने से भगा दिया।” पुलिस ने बाल गोविंद दुबे को चित्रकूट में कामतानाथ मंदिर परिक्रमा करते हुए गिरफ्तार किया गया था। उसने पुलिस पूछताछ में स्वीकार की वह और उनका दामाद बिकरू कांड का मुख्य कारण थे। आपको बता दें कि बाल गोविंद विकास दुबे का दूर का चचेरा भाई भी है।
Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here