किसान भारत बंद के दौरान मॉल, बाजार के अलावा वैकल्पिक रास्तों को बंद करेंगे

0
101

नई दिल्ली। तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर किसानों के प्रदर्शन को शुक्रवार को 4 महीने पूरे हो जाएंगे। इस मौके पर संयुक्त किसान मोर्चा ने सरकार के खिलाफ भारत बंद का आह्वान किया है। बंद सुबह 6 से शाम 6 बजे तक किया जाएगा। मोर्चा के मुताबिक, भारत बंद के तहत सभी दुकानें, मॉल, बाजार और संस्थान बंद रहेंगे। इसके अलावा, तमाम छोटी व बड़ी सड़कें और ट्रेनें जाम की जाएंगी। एम्बुलेंस व अन्य आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी सेवाएं बंद रहेंगी। दिल्ली के अंदर भी भारत बंद का प्रभाव रहेगा।

26 मार्च को भारत बंद होगा असरदार, आंदोलन को मिलेगी और ताकत: संयुक्त किसान मोर्चा

सयुंक्त किसान मोर्चा के अनुसार, इस आह्वान पर देश के तमाम किसान संगठनों, मजदूर संगठनों, छात्र संगठनों, बार संघ, राजनीतिक दलों और राज्य सरकारों के प्रतिनिधियों ने इस बंद का समर्थन किया है। दिल्ली की जिन सीमाओं पर किसानों के धरने चल रहे हैं, वे सड़कें पहले से ही बंद हैं। इस दौरान वैकल्पिक रास्ते खोले गए थे। मगर भारत बंद के दौरान सुबह 6 से शाम 6 बजे तक इन वैकल्पिक रास्तों को भी बंद किया जाएगा।

संयुक्त किसान मोर्चा ने अपनी मांग दोहराई कि तीनों कृषि कानून रद्द किए जाएं, एमएसपी व खरीद के लिए कानून बने। साथ ही किसानों पर किए सभी पुलिस केस खारिज किए जाएं, बिजली बिल और प्रदूषण बिल वापस हो और डीजल, पेट्रोल व गैस की कीमतें कम किए जाएं।

मोर्चा ने सभी प्रदर्शनकारी नागरिकों से अपील करते हुए कहा, “इस बंद को शांतिपूर्ण तरीके से सफल बनाएं। किसी से किसी तरह की नाजायज बहस में न उलझें। किसानों के सब्र का ही परिणाम है कि आंदोलन इतना लंबा चला है, हमें लगातार सफलताएं मिल रही हैं, समूचे देश में समाज के हर तबके का समर्थन मिल रहा है।”

Noida: कुख्यात सुंदर भाटी को उम्रकैद, प्रधान मर्डर केस में हुई सजा

किसान तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले साल 26 नवंबर से ही राष्ट्रीय राजधानी की विभिन्न सीमाओं पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, क्योंकि बीच दिल्ली में आकर प्रदर्शन करने की इजाजत उन्हें नहीं दी गई है।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here