farmers protest: DM ने धरनास्थल खाली करने के दिए आदेश, गाजीपुर बॉर्डर पर हालात बेहद तनावपूर्ण

बिजली व पानी पहले ही प्रशासन ने रोक दिया है, कई संगठनों ने भी खींचे आन्दोलन से हाथ

0
71

Ghaziabad : गाजीपुर बॅार्डर पर हालात इस समय बेहद तनावपूर्ण है।  DM के आदेश के बाद बॅार्डर को शील कर दिया गया है। साथ ही रुट डायवर्ट कर दिया गया है। raf पीएसी और पुलिस बल बॅार्डर पर तैनात कर दिया गया है। साथ ही एडीजी सहित पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी बॅार्डर को खाली कराने की रणनीति बना रहे हैं। रात में किसी भी समय यदि किसान खुद से नहीं उठते हैं तो बल पूर्वक बॅार्डर खाली कराया जाएगा।

CBSE exam: 2 फरवरी को होगी सीबीएसई बोर्ड परीक्षा की डेटशीट जारी, MHRD मंत्री ने दी जानकारी

दरअसल, गणतंत्र दिवस पर हुए उपद्रव के बाद केन्द्र सरकार और यूपी की योगी सरकार किसान आन्दोलन को लेकर एक्शन मोड में आ गई है। 26 जनवरी की शाम को भी दिल्ली प्रर्दशन से लौट रहे ट्रैक्टर सवार लोगों के साथ पुलिस ने सख्ती दिखाई थी। गुरुवार की शाम एडीजी के नेतृत्व में गाजियाबाद के डीएम सहित तमाम अधिकारियों की मीटिंग चल रही है। जिसमें गाजियाबाद के  जिलाधिकारी ने खुले शब्दों में किसानो से गाजीपुर बॅार्डर खाली करने को कहा है। उन्होने चेतावनी दी है यदी किसान नेता खुद से स्थान खाली नहीं कराएंगे तो बलपूर्वक उन्हे खदेड़ा जाएगा।

पुलिस आंदोलनकारी किसानों को गिरफ्तार करने आई है : राकेश टिकैत

बिजली-पानी पहले ही काटा

सभी धरना स्थलों का बिजली व पानी पहले ही काट दिया गया है। जिसके बाद वैसे ही किसान आन्दोलन हल्का हो गया है। भारतीय किसान युनियन भानू सहित कई किसान संगठनों ने आन्दोलन से समर्थन हटा लिया है। जिसके बाद गिने-चुने नेता ही आन्दोलन को खींच रहे हैं। बता दें की गाजीपुर बॅार्डर सहित अन्य धरना स्थलों पर पिछले दो माह से किसान संगठनों का कब्जा है। जिसके बाद आमजन का आवागमन पूरी तरह बंद है। लाल किले पर धर्म का झंडा फहराने के बाद सरकार किसान नेताओं के खिलाफ सख्त नजर आ रही है। किसान नेता राकेश टिकैत सहित दर्जनों किसान नेताओं पर पहले ही रिपोर्ड दर्ज हो चुकी है। किसी भी समय उनकी गिरफ्तारी हो सकती है।
corona update: क्या है कोरोना की नई गाइडलाइन ? 1 फरवरी से होगा ये बदलाव

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here