New delhi: दत्तात्रेय होसबले बने सरकार्यवाह, RSS में नंबर 2 होता है सरकार्यवाह का पद

इससे पहले सह सरकार्यवाह की जिम्मेदारी संभाल रहे थे होसबले,

0
113

New delhi: प्रतिनिधि की बैठक में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के नए सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले चुने गए हैं। यह चुनाव बेंगलुरु के चेन्नहल्ली स्थित जनसेवा विद्या केंद्र में चल रही प्रतिनिधि सभा में हुआ। आपको बता दें कि अब दत्तात्रेय होसबले मोहनराम भागवत के बाद नंबर दो की भूमिका में आ गए हैं। इससे पहले वे सह सरकार्यवाह का पद संभाल रहे थे। प्रतिनिधि सभा में उन्हे भैयाजी जोशी की जगह स्थान दिया गया।

क्या होती है चुनाव परिक्रिया

संघ में कुछ जिम्मेदारियों का कार्यकाल तीन वर्ष का होता है। जिनमें जिला संघचालक, विभाग संघचालक, प्रांत संघचालक और क्षेत्र संघचालक के साथ-साथ सरकार्यवाह भी शामिल है। आवश्यकतानुसार बीच में भी कुछ पदों पर बदलाव होता रहता है। क्षेत्र प्रचारक और प्रांत प्रचारकों के दायित्व में बदलाव भी प्रतिनिधि सभा की बैठक में होता है। संघ में प्रतिनिधि सभा निर्णय लेने वाला विभाग है।

भैयाजी जोशी निभा रहे थे जिम्मेदारी

दत्तात्रेय होसबले से पहले सुरेश भैयाजी जोशी सरकार्यवाह थे। उन्होंने 2018 के चुनाव में सरकार्यवाह के दायित्व से मुक्त करने का आग्रह किया था, लेकिन उनके नेतृत्व को देखते हुए संघ ने उन्हें दोबारा यह दायित्व सौंप दिया था। 20 मार्च को प्रतिनिधि सभा में उन्हे मुक्त कर दत्तात्रेय होसबले को तीन साल के लिए सरकार्यवाह की नई जिम्मेदारी सौंपी गई। जिससे समर्थकों में काफी उत्साह का माहौल है।

 

जानकारी के अनुसार दत्तात्रेय होसबोले कर्नाटक के रहने वाले हैं। उनका जन्म एक दिसंबर 1954 को हुआ। 1968 में वह कर्नाटक के शिवमोगा जिले में संघ के संपर्क में आए और स्वयंसेवक बन गए। 1978 में वह अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के पूर्णकालिक सदस्य बने और 1990 में प्रचारक की जिम्मेदारी संभाली। अंग्रेजी से एमए करने वाले दत्तात्रेय होसबोले विद्यार्थी परिषद में क्षेत्रीय और राष्ट्रीय महामंत्री के साथ-साथ अखिल भारतीय संगठन मंत्री भी रह चुके हैं। पहले वह संघ के अखिल भारतीय बौद्धिक प्रमुख रहे और उसके बाद सह सरकार्यवाह का दायित्व संभाला।

 

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here