Hathras Gang Rape Case: CM योगी ने परिजनों से की बात, 25 लाख रुपए, घर और नौकरी का ऐलान

हाथरस गैंगरेप केस में सीएम योगी ने बुधवार की शाम मृतका के परिजनों से बातचीत की और कठोर कार्रवाई की बात कही है। इस केस को लेकर प्रदेश ही नहीं देशभर में लोग आक्रोशित हैं। इस मुकदमे की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में कराने का भी भरोसा दिया गया है।

0
209

लखनऊ। हाथरस गैंगरेप (Hathras Gang Rape Case) मामले में पूरा देश आक्रोशित है। 14 सितंबर को हाथरस के चंदपा क्षेत्र में गैंगेरप से लेकर उसके इलाज और उसके अंतिम संस्कार तक ​पर योगी सरकार (Yogi Government) की पुलिस (Police) पर लगातार सवाल खड़े हो रहे हैं। इस मामले में बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adiyanath) से बात की तो देर शाम सीएम योगी ने मृतका के परिजनों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बात की। सीएम योगी ने परिजनों को आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का भरोसा दिलाया है। इसी बीच यूपी सरकार ने पीड़िता के परिजनों को 25 लाख रुपए की मदद, घर और सरकारी नौकरी देने का ऐलान किया है।

यह भी पढ़ें: Hathras Gang Rape Case: ​वाल्मीकि समाज ने दी आंदोलन की चेतावनी, आरोपियों को ​फांसी देने की मांग

योगी सरकार विपक्ष के निशाने पर है। देर रात हुए अंतिम संस्कार को लेकर विपक्ष का कहना है कि पुलिस ने साक्ष्य को मिटाने के लिए परिजनों की गैरमौजूदगी में अंतिम संस्कार कर दिया। वहीं पुलिस और प्रशासन ने इन आरोपों को खारिज कर दिया है। एडीजी प्रशांत कुमार ने कहा कि मंगलवार सुबह पीड़िता की मृत्यु हो गई थी। देर रात पोस्टमार्टम के बाद जब शव पहुंचा तो परिवार वालों की सहमति से और उनकी उपस्थिति में अंतिम संस्कार कराया गया था। प्रशांत कुमार ने कहा कि कुछ महिलाओं द्वारा आरोप लगाए हए हैं। सत्य यही है कि उनकी उपस्थिति से और सहमति से ही अंतिम संस्कार कराया गया था। शांति व्यवस्था के लिए वहां पुलिस उपस्थित थी।

यह भी पढ़ें: Meerut में भाजपाइयों ने पुलिस अफसर पर लगाया ​अभद्रता का आरोप, सांसद तक पहुंची शिकायत

एडीजी ने कहा कि पीड़िता की डेड बॉडी खराब हो रही थी, इसलिए घर के लोगों ने सहमति जातई थी कि रात को ही अंतिम संस्कार कर देना उचित होगा। सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस मामले में एसआईटी गठित करने का ऐलान किया है। गृह सचिव की अध्‍यक्षता वाली इस तीन सदस्‍यीय टीम में डीआईजी चंद्र प्रकाश और आईपीएस अधिकारी पूनम को सदस्‍य बनाया गया है। सीएम ने पूरे घटनाक्रम पर सख्‍त रुख अख्तियार करते हुए टीम को घटना की तह तक जाने के निर्देश दिए हैं।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here