Agra में यात्रियों से भरी बस हुई हाईजैक, अब कहानी में आया चौंकाने वाला ट्विस्ट

चौंकाने वाली बात तो यह है कि, जिस बस को हाईजैक किया गया वो सवारियों से भरी हुई थी

0
389
आगरा। उत्तर प्रदेश के आगरा से एक अजीब मामला सामने आया है। जानकारी के अनुसार यहां फाइनेंस कंपनी के कर्मचारियों ने एक बस को हाईजैक कर लिया। चौंकाने वाली बात तो यह है कि, जिस बस को हाईजैक किया गया वो सवारियों से भरी हुई थी। लेकिन कहानी में मोड़ तब आया, जब पता चला कि इस घटना को रुपयों के लेन—देन के चलते अंजाम दिया गया। दरअसल, मलपुरा थाना क्षेत्र में अज्ञात कार सवारों द्वारा बस को अगवा करने का मामला सामने आया। आरोपियों ने बस के चालक और परिचालक को वहीं उतार दिया और बस को अपने साथ ले गए। इस घटना के बाद पूरे क्षेत्र में हड़कंप मच गया, जिसके बाद हाईजैक बस को बरामद करने के लिए पुलिस बल ने सर्च आॅपरेशन शुरू कर दिया। हालांकि बाद में इटावा से बस को बरामद कर लिया गया, जिसमें सभी यात्री पूरी तरह से सुरक्षित मिले।?

BSF के जवान ने फासी लगाकर किया suicide, डेरी की छत से लटका मिला शव

इटावा में मिली बस
जानकारी के अनुसार हाईजैक हुई बस इटावा से मिली। जबकि बस में सवाल सभी यात्री मध्य प्रदेश के छतरपुर में सुरक्षित पाए गए। बस की लोकशन इटावा के बलरई थाना क्षेत्र स्थित लखेरा गांव के पास बस एक ढाबे पर मिली। वहीं, आगरा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने जानकारी देते हुए बताया कि यात्रियों तक आगरा पुलिस पहुंच गई है। पुलिस ने सभी यात्रियों से बातचीत की है। चिंता की कोई बात नहीं है। पता चला है कि बस को फाइनेंस कर्मियों द्वारा हाईजैक नहीं किया गया था।

Corona की जद में मेरठ पुलिस विभाग, SP Crime बेटी और पत्नी के साथ हुए Corona Positive

क्या है नई कहानी?
बताया जा रहा है कि बस को अगवा फिरोजाबाद निवासी प्रदीप गुप्ता नामक शख्स ने कराया था। इसके पीछे प्रदीप का बस मालिक से रुपये के लेन-देन को लेकर विवाद था। क्योंकि बस मालिक की मंगलवार को कोरोना संक्रमण के चलत मौत हो गई तो ऐसे में प्रदीप गुप्ता को अपना रुपया डूबने का डर सताने लगा। जिसके चलते उसने यह कदम उठाया। वहीं, श्रीराम फाइनैंस के रीजनल बिजनस हेड बीसी कटोच ने बस पर किसी भी लोन की बात से इनकार किया है।
Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here