लड़के-लड़कियों नशा परोसने वाले डगआउट के संचालक गिरफ्तार, हुक्का बार भी लगा ताला

0
280

मेरठ। शहर के पॉश इलाकों में से एक शास्त्री नगर में चल रहे हुक्का बार डगआउट के संचालक और प्रबंधन को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इन लोगों पर लड़कों और लड़कियों को नशा कराने का आरोप है। पुलिस फिलहाल आरोपियों से पूछताछ कर रही है। वहीं, इस घटना को लेकर नौचंदी पुलिस भी सवालों के घेरे में आ गई है। आपको बता दें कि गढ़ रोड स्थित शास्त्री नगर में डगआउट रेस्टोरेंट है। इस रेस्टोरेंट में संचालित हुक्का बार में एक युवक का दो नाबालिग लड़कियों के साथ हुक्का पीते हुए एक वीडियो वायरल हुआ था। पुलिस को इस मामले में काफी फजीहत झेलनी पड़ी थी, जिसके बाद पुलिस ने रेस्टोरेंट पर ताला लगा दिया था।

मोबाइल से दिमाग की कोशिकाएं हो रहीं खत्म, सोते में डर कर जाग जाते हैं बच्चे!

जानकारी के अनुसार कोरोना काल में तमाम पाबंदियों के बावजूद सारे नियम कायदों को धता बताते हुए यह डगआउट रेस्टोरेंट में ​हुक्का बार चलता रहा। यहां पर अक्सर लड़के लड़कियां आते हैं और वहां नशा करते हैं। चौंकाने वाली बात यह है कि इन​में अधिकांश लड़के व लड़कियां नाबालिग होती थी। सबसे बड़ा सवाल यह है कि क्या नौचंदी पुलिस को इसकी कोई जानकारी नहीं थी? हालांकि बुधवार को शिकायत मिलने पर पुलिस डगआउट रेस्टोरेंट पहुंची और सोशल डिस्टेंस में चालान कर लौट आई। लेकिन एडीजी और आईजी ने घटना का संज्ञान लेते हुए बड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए।

सिर्फ 3500 रुपये की पूंजी से शुरू कारोबार को हौसले ने बनाया दो करोड़ का बिजनेस

वहीं, इस घटना में वरिष्ठ अधिवक्ता राम कुमार शर्मा का कहना है कि यह मामला लव जिहाद से जुड़ा है। जिसमें नाबालिग लड़की को बहला फुसलाकर प्रेम जाल में फंसाया जाता है। कुछ समय पहले ही इस बालिका के पिता की आकस्मिक मृत्यु हुई थी, जिसका लाभ इस आरोपी ओर उसके दोस्तों ने उठाया। आरोपी दोस्तों से दोस्ती का करने का भी दबाव बनता था

लेबनान में हुए धमाके में मेरठ की पत्रकार हुई घायल, स्विमिंग पूल में कूदकर बचाई जान

पीड़ित छात्रा के फोटो भी ब्लैकमेल करने के लिए अपने पास सुरक्षित रखता है। यह एक प्रकार का पूरा गैंग है, जो इस प्रकार से school की लड़कियों को प्रेम जाल में फंसा कर उनका मानसिक और शारीरिक शोषण करता है। इन लोगों के निशाने पर स्कूल की छोटी लड़कियां ही होती हैं, उनको आसानी से यह लोग सुनियोजित षडयंत्र के तहत फंसाते है, फिर उनका शोषण करते हैं। इस केस में बात आगे बढ़ने से पहले ही मामला पकड़ में आ गया। आरोपी परतापुर थाने में बंद है, उसके साथी फरार हैं।

तमाम अटकलों और विरोध के बावजूद उत्तर प्रदेश में कल होगी बीएड प्रवेश परीक्षा, 431904 परीक्षार्थी होंगे शामिल

मुक़दमा पंजीकृत कर कार्यवाही कर जेल भेजा जा रहा है। बड़ी घटना है पुलिस को इसके अन्य साथियों या गैंग को भी पकड़ना चाहिए, जिससे अन्य छात्राओं को इन मानसिक जेहाद में शामिल अपराधियों से बचाया जा सके।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here