Hathras में सामूहिक दुष्कर्म की शिकार युवती की मौत, इलाज के 15 दिन बाद अस्पताल में जिन्दगी से हारी जंग, लोगों में गुस्सा

दिल्ली के निर्भया जैसा मामला हाथरस में देखने में आया है। 15 दिन तक अस्पताल में उपचार के बाद मंगलवार को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में दुष्कर्म पीड़िता की मौत हो गई। इससे लोगों में गुस्सा है। पीड़िता का शव ​शाम तक पहुंचने की संभावना है। पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है।

0
260

हाथरस। 14 सितंबर को हाथरस जनपद के चंदपा क्षेत्र की 22 वर्षीय युवती के साथ गांव के चार युवकों ने सामूहिक दुष्कर्म किया था। इसके बाद चारों आरोपियों ने उसकी जीभ काट दी थी, ताकि वह इस घटना के बारे में न बता सके। पहले युवती का इलाज अलीगढ़ के जेएन मेडिकल कालेज में चल रहा था। सोमवार को पीड़िता को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया था। मंगलवार की सुबह छह बजे पीड़िता जिन्दगी से जंग हार गई। उसकी मौत के बाद से लोगों में आक्रोश है। पुलिस ने चारों आरोपियों को शनिवार को गिाफ्तार कर लिया था।

यह भी पढ़ें: Meerut में शराब माफिया रमेश प्रधान की 1.40 करोड़ की संपत्ति कुर्क, West UP के कुख्यातों में मचा हड़कंप

युवती की मौत के बाद उसके गांव और गांव जाने वाले रास्ते पर भारी पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है। खुद एएसपी प्रकाश कुमार इसकी कमान संभाले हुए हैं। मृतका के शव का दिल्ली में पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। वहां से शाम तक शव के यहां आने की उम्मीद है। हाथरस और अलीगढ़ से अतिरिक्त पुलिस फोर्स को दिल्ली भेजा गया है। बता दें कि चंदपा थाना क्षेत्र के एक गांव में हुई इस घटना के बारे में पीड़िता ने मजिस्ट्रेट को दिए अपने बयान में कहा था कि चार युवकों ने उनके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया और विरोध करने पर उसका गला घोंटने की कोशिश की, जिसमें पीड़िता की जीभ कट गई थी। पीड़िता ने चारों आरोपियों की पहचान संदीप, रामू, लवकुश और रवि के रूप में की थी। पुलिस अधीक्षक ने बताया था कि संदीप को घटना के दिन ही गिरफ्तार कर लिया गया था। बाद में रामू और लवकुश को भी गिरफ्तार किया गया और शनिवार को चौथे आरोपी रवि को भी गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।

यह भी पढ़ें: Bulandshahr में फिर होते बचा बिकरू कांड, पुलिस टीम पर फायरिंग करके 7 फरार, ​87 गोवंश के साथ नौ महिलाएं गिरफ्तार

चारों आरोपियों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया गया है। अधिकारियों ने कहा कि मुकदमा त्वरित अदालत में चलाया जाएगा। पीड़िता को घटना के दूसरे दिन अलीगढ़ के जेएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। वहां वह वेंटिलेटर पर थी और शुरुआत से ही उसकी हालत चिंताजनक थी। इस पर दो दिनों के मंथन के बाद सोमवार को ही उसे दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल रेफर किया गया था। मंगलवार की सुबह छह बजे पीड़ित युवती की मौत हो गई।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here