Bike Boat Scam में कंपनी के 50 हजार के इनामी डायरेक्टर समेत तीन गिरफ्तार, STF और EOW का एक्शन

मेरठ और नोएडा में बुधवार को एसटीएफ और ईओडब्ल्यू की टीमों ने संयुक्त कार्रवाई में कंपनी के डायरेक्टर समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। इन पर 50-50 हजार रुपये का इनाम था। इस कार्रवाई से हड़कंप मचा हुआ है। अभी और ​भी गिरफ्तारी होने का अंदेशा जताया जा रहा है।

0
220

मेरठ। बाइक (Bike) चलवाने के नाम पर सवा दो लाख लोगों से अरबों रुपये की ठगी और निवेश की गई रकम दो गुना वापस करने का झांसा देने और रकम नहीं लौटाए जाने के केस में बुधवार को एसटीएफ (STF) और ईओडब्ल्यू (EOW) टीम की संयुक्त कार्रवाई में बड़ी सफलता मिली है। मेरठ ​(Meerut) और नोएडा (Noida) की एसटी व ईओडब्ल्यू की टीमों को बाइक बोट घोटाले (Bike Boat Scam) के तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इन पर 50-50 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया था।

यह भी पढ़ें: Baghpat में Hathras की बेटी की पीट-पीटकर हत्या, दहेज को लेकर परेशान कर रहे थे ससुराल वाले

इनमें से ​सचिन भाटी और पवन भाटी को नोएडा और ​मेरठ से करणपाल को गिरफ्तार किया है। आरोप है कि इन्होंने बाइक बोट घोटाले में फर्जी तरीके से काफी लोगों से मोटी रकम वसूली है। सीओ एसटीएफ बृजेश सिंह के मुताबिक पकड़े गए आरोपियों को ईओडब्ल्यू की तरफ से जेल भेजा जा रहा है। साथ ही बाकी आरोपियों की तलाश की जा रही है।इसी साल एक सितंबर को बाइक बोट घोटाले में 50 हजार के इनामी आरोपी को मेरठ की आर्थिक अपराध शाखा ने मेरठ के जुर्रानपुर फाटक के समीप से गिरफ्तार किया था। उसकी पहचान सुनील प्रजापति निवासी बुलंदशहर के रूप में हुई थी। वह कंपनी में निदेशक था। ग्रेटर नोएडा के चीती गांव के रहने वाले संजय भाटी ने बाइक चलवाने के नाम पर सवा दो लाख लोगों से अरबों रुपये की ठगी की। निवेश की गई रकम दो गुना वापस करने का झांसा दिया। तीन साल तक कंपनी संचालित कर संजय भाटी व उसके गुर्गों ने ठगी की थी।

यह भी पढ़ें: Saharanpur में भाजपा नेता का कोरोना से निधन, ​कई दिनों से था बुखार, स्वास्थ्य विभाग में मचा हड़कंप

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here