Meerut: जब जलती चिता के उपर गिर गई श्मशान की छत, आगे की कहानी जानकर रह जाएंगे हैरान

पुलिस ने मलबे से शव को निकालकर कराया अंतिम संस्कार, ग्रामीणों का प्रशासन के खिलाफ फूटा गुस्सा

0
164

मेरठ। इंचौली थाना क्षेत्र के श्मशान घाट पर उस वक्त खलबली मच गई, जब जलती चिता के उपर अचानक शमशान की छत गिर गई। छत ने अधजली चिता को अपने नीचे दबा लिया। आनन-फानन में हादसे की पुलिस को सूचना दी गई। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से शव को चिता से बाहर निकाला। हालाकि जिस वक्त छत गिरी उसके नीचे कोई व्यक्ति मौजूद नहीं था।

कस्बे के मोहल्ला बड़ी पट्टी निवासी सब्जी कारोबारी कालीचरण विगत शुक्रवार को लावड़ से मिनी ट्रक में सब्जी भरकर ला रहे थे। इसी बीच वह झटका लगने पर ट्रक से नीचे गिर गए थे। गंभीर घायल अवस्था में उन्हे निकटवर्ती अस्पताल में भर्ती कराया था। जहां उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई थी। इसके बाद परिजन व ग्रामीण शव का अंतिम संस्कार करने श्मशान में पहुंचे। इस दौरान परिजन चिता में आग लगने के बाद वापस लौटने की तैयारी कर रहे थे। इसी बीच श्मशान की छत तेज आवाज के साथ जलती चिता के ऊपर गिर पड़ी। गनीमत रही कि कोई भी व्यक्ति मलबे में नहीं दबा।

 

ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और मलबे में दबे शव को बाहर निकाला। ईंटे गर्म होने की वजह कड़ी मश्कक्त के बाद शव को बाहर निकाला गया। घटना के बाद ग्रामीणों में प्रशासन के खिलाफ आक्रोश फैल गया। ग्रामीणों ने बताया कि करीब दस साल पूर्व सपा सरकार में श्मशान का निर्माण हुआ था। श्मशान तक जाने के लिए कोई पक्का रास्ता भी नहीं बना हुआ है। ग्रामीणों ने प्रशासन से श्मशान का निर्माण कराए जाने की मांग की। थाना प्रभारी ने बताया कि श्मशान की छत चिता पर गिरने का मामला था। मलबे से शव को निकालकर फिर से चिता जला दी गई है। मामले में कोई तहरीर नहीं आई है।

 

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here