Meerut: वरिष्ठ अधिवक्ता ने फासी लगाकर की आत्महत्या, सुसाइड नोट में लगाए गंभीर आरोप

डिप्रेशन के चलते दिया वारदात को अंजाम, सुसाइड नोट में दिया जनप्रतिनिधियों से दबाव का भी हवाला

0
102

meerut: गंगानगर थाना क्षेत्र की कालोनी ईशापुरम में वरिष्ठ अधिवक्ता ने फासी लगाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को फासी से उतारा और पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। अधिवक्ता की मौत की खबर सुनकर घर पर वकीलों का तांता लग गया। सुसाइड नोट में अधिवक्ता ने डिप्रेशन का हवाला देकर बेटे के सुसारालीजनों पर आरोप लगाया है।

अब आम लोगों पर हुए Lockdown उल्लंघन के मुकदमें वापस लेगी योगी सरकार

दरअसल, कालोनी में वरिष्ठ अधिवक्ता ओमकार तोमर अपने परिवार के साथ लंबे समय से रह रहे थे। बताया गया कि ओमकार ने अपने बेटे की शादी खतौली जनपद मुजफ्फरनगर में की थी। पत्नी के साथ विवाद के चलते ससुराल पक्ष के लोगों ने ओमकार तोमर उनके बेटे और परिवार के अन्य सदस्यों के खिलाफ दहेज उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज कराया था। आरोप है कि बेटे ने खतौली में ससुराल के लोगों पर फायरिंग कर दी थी। उसके बाद ओमकार तोमर और उनके बेटे पर जानलेवा हमले का मुकदमा भी दर्ज कराया था। जिसके बाद खतौली पुलिस लगातार ओमकार चौधरी के घर पर दबिश डाल रही थी। इसी के चलते ओमकार डिप्रेशन में रहने लगे। बताया गया कि कचहरी भी कम ही जा रहे थे।

Lucknow: अश्लील साइट सर्च करते ही Alart हो जाएगी महिला हेल्पलाइन, काम करेगा डिजिटल चक्रव्यूह

मिला सुसाइड नोट

अधिवक्ता की डेड बॅाडी के पास सुसाइड नोट बरामद हुआ। जिसमें उन्होने साफ लिखा है कि बेटे की ससुराल वालों ने उनके उपर आधा दर्जन फर्जी मुकदमे दर्ज करा दिए हैं। जिसके चलते वह डिप्रेशन में चला गया है। आरोप है कि उन्हे कई जनप्रतिनिधियों ने भी दबाव बनाने की कोशिश की है। जिसके चलते उसका जिंदा रहना मुश्किल हो रहा था। हालाकि पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है। थाना प्रभारी विजेन्द्र ने बताया कि घटना की पूरी जानकारी के बाद ही कुछ कहा जा सकता है। फिलहाल जांच जारी है।

panchyat election: अब बहुरेंगे निठल्लों के दिन, जाने कैसे हो रही है चांदी

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here