Oil Mafia के लोगों ने हड़ताल खत्म करने को लेकर की मारपीट, Tanker में तोड़फोड़, दो लाख रुपये लूटने का भी आरोप

तीन दिन से चल रही टैंकर मालिकों, चालक-परिचालकों की हड़ताल से तेल माफिया तिलमिलाए हुए हैं। मेरठ में सोमवार को तेल माफिया और उसके साथियों ने हड़ताल तुड़वाने के लिए हड़तालियों पर हमला कर दिया। तोड़फोड़ के बाद लूटपाट भी की। मदद के लिए पुलिस भी मौके पर नहीं पहुंची।

0
214

मेरठ। तीन दिन से इंडियन ऑयल डिपो (Indian Oil Depot) व हिंदुस्तान ऑयल डिपो (Hinustan Oil Depot) में चल रही टैंकर मालिक (Tanker Owner), चालक-परिचालकों की हड़ताल (Strike) के दौरान सोमवार की दोपहर तेल माफिया (Oil Mafia) ने हड़तालियों पर हमला (Attack) कर दिया और टैंकर में तोड़फोड़ कर दी। इस दौरान पीड़ित पक्ष ने तेल ​माफिया के लोगों ​पर दो लाख रुपये लूटने (Two Lakh Looted) का भी आरोप लगाया है। इस मामले में पुलिस (Meerut Police) की भूमिका पर भी सवाल उठ रहे हैं।

यह भी पढ़ें: CCSU Meerut: स्नातक प्रथम वर्ष की पहली संशोधित Merit List जारी, 16 अक्टूबर तक होंगे Admission

ट्रांसपोर्टनगर क्षेत्र के पूठा गांव में इंडियन ऑयल डिपो और हिंदुस्तान ऑयल डिपो हैं। कई मांगों को लेकर इंडियन ऑयल डिपो के टैंकर चालक, परिचालक और मालिकों ने तीन दिन से हड़ताल कर रखी है। हड़ताल रुकवाने के लिए कुछ तेल माफिया टैंकर चालक, परिचालक और मालिकों पर हड़ताल खत्म करने का दबाव बना रहे हैं। सोमवार की दोपहर पूठा गांव के तेल माफिया अनिल चौधरी ने भोला रोड पर रहने वाले टैंकर मालिक अभिषेक यादव के ऑफिस वेदव्यासपुरी जाकर हड़ताल खत्म करने का दबाव बनाते हुए हड़ताल खत्म करने की बात कही। इस पर अभिषेक यादव ने मना कर दिया। बताते हैं कि ​तेल माफिया वहां से चला गया। कुछ ही देर बाद तेल माफिया अनिल चौधरी का बेटा सुमित चौधरी अपने दो दर्जन से अधिक साथियों के साथ अभिषेक यादव के ऑफिस पर पहुंचा और लाठी-डंडों से मारपीट करते हुए कई राउंड फायरिंग की। साथ ही टैंकरों में तोड़फोड़ शुरू कर दी।

यह भी पढ़ें: Bijnor में गुलदार का खौफ, बछिया बनीं शिकार, वन विभाग की टीम ने डाला डेरा

पीड़ित अभिषेक यादव ने बताया कि माफिया अनिल चौधरी का बेटा सुमित और उसके साथी मारपीट करते हुए ऑफिस में रखे दो लाख रुपये लूट ले गए। वेदव्यासपुरी पुलिस चौकी के कुछ कदमों की दूरी पर कई राउंड फायरिंग और तोड़फोड़ होने के बाद भी कई घंटों तक पुलिस मौके पर नहीं पहुंची। कुछ लोगों का आरोप है कि पुलिस तेल माफियाओं का साथ दे रही है, इसलिए तेल माफियाओं के खिलाफ कोई कार्रवाई करने को तैयार नहीं है। ​

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here