Meerut: नगर निगम में फिर एक धांधली! दिल्ली रोड डिपो में फर्जीवाड़े का बड़ा आरोप

0
102

मेरठ। अपनी तमाम कारगुजारियों के लिए बदनाम मेरठ नगर निगम की एक और धांधली सामने आई है। नगर निगम के ही एक कर्मचारी ने कमिश्नर कार्यालय में शिकायत कर अपने साथियों और उच्च अधिकारियों के कारनामों की पोल खोली है। दरअसल, नगर निगम की दिल्ली रोड डिपो पर तैनात वाहन चालक प्रवीण ने आरोप लगाया है कि डिपो में तैनात लिपिक और प्रभारी ड्राइवरों के फर्जी हस्ताक्षर कर डीजल की खरीद-फरोख्त में मोटी काट रहे हैं।

 Meerut: बेटे ने पिता सर्राफ को गोली मारकर उतारा मौत के घाट, पुलिस पर चलाई गोली

मेरठ कमिश्रर को भेजी अपनी शिकायत में वाहन चालक ने आरोप लगाया कि प्रभारी और बाबू वाहनों की लॉग बुक ड्राइवरों को न देकर अपने पास रखते हैं, जिस पर मनमर्जी से वाहन चालकों के हस्ताक्षर कराए जाते हैं। चालक का आरोप है कि डिपो प्रभारी और बाबुओं की इस धांधली का खुलासा तब हुआ जब एक दिन उसने लॉग बुक में अपने ही फर्जी हस्ताक्षर देखे। आरोप है कि विरोध करने पर प्रभारी ने चुप न रहने पर उसको नौकरी से हटाने की धमकी दे डाली।

Meerut: छेड़छाड़ के विरोध में दो पक्षों में खूनी संघर्ष, दर्जनों लोग गंभीर घायल

शिकायतकर्ता ने नगर निगम दिल्ली रोड डिपो की जेसीबी मशीन चलाता है। जेसीबी चालक ने लॉक बुक पर फर्जी हस्ताक्षण वाले कागज भी अपने पास होने का दावा किया है। चालक ने कमिश्नर से इस मामले की जांच कराकर आवश्यक कार्यवाही करने की मांग की है। आपको बता दें कि नगर निगम की डिपो प्रभारियों पर तेल में घपला करने के आरोप पहले भी लगते रहे हैं। अब डिपो पर तैनात कर्मचारी द्वारा फर्जीवाड़े का खुलासा करना अपने आप में बड़ा मामला है। अगर इस प्रकरण की निष्पक्ष जांच कराई जाती है तो बड़ा घपला सामने आ सकता है। हालांकि डिपो प्रभारी गजेंद्र ने इन आरोपों को झूठा और बेबुनियाद बताया है।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here