आठ साल की बच्ची ने होमवर्क से बचने के लिए रच डाली अपहरण और दुष्कर्म की कहानी, जानिए पूरा मामला

मेरठ में एक ऐसा मामला सामने आया है कि परिवार वाले परेशान हो गए और पुलिस भी खूब दौड़ी, जब सच्चाई का पता चला तो हर कोई हैरान रह गया। जानिए आठ साल की बच्ची ने खुद कैसी कहानी रच डाली।

0
181

मेरठ। टीवी (TV) का असर बच्चों पर किस कदर गलत प्रभाव डाल रहा है, इसका एक उदाहरण मेरठ शहर (Meerut City) में देखने को मिला है। जब इस मामले से पर्दा उठा तो परिवार वाले और पुलिस (Meerut Police) हैरान रह गई। वास्तव में जब परिवार वालों को जब इस बच्ची की कहानी का पता चला तो परिवार वाले शर्मिंदा हो गए और पुलिस अफसरों (Police Officers) से उन्होंने माफी मांगी। दरअसल, आठ साल की बच्ची ने जब ट्यूशन का होमवर्क नहीं किया तो इससे बचने के लिए अपहरण और दुष्कर्म (Kidnapping And Rape) की कहानी रच (Fake Story) डाली। इस सूचना पर पुलिस ने खूब-दौड़ लगाई और जब सच्चाई (Reality) पता चली तो ​सभी हैरान रह गए।

यह भी पढ़ें: ब्राह्मणों पर अत्याचार को लेकर आक्रोश, योगी सरकार की बुद्धि-शुद्धि के लिए प्रशांत भारद्वाज की अगुवाई में हुआ हवन-यज्ञ

शहर की ​एक कालोनी का मामला बुधवार रात का है। एक कालोनी निवासी युवक ने अपनी आठ वर्षीय बेटी के अपहरण और दुष्कर्म की घटना कंट्रोल रूम पर पुलिस को बताई। परिजनों ने पुलिस को बताया कि छात्रा शाम को ट्यूशन के लिए घर से निकली थी और लापता है। उसे दो युवकों द्वारा जबरन कार से ले जाने का पता चल रहा है। पुलिस ने कॉलोनी के सभी रास्तों पर लगे सीसीटीवी कैमरे खंगाले, लेकिन किसी अपहरण की कोई पुष्टि नहीं हुई। दो घंटे बाद बच्ची के नानी के घर पर होने की सूचना पुलिस को दी गई।

यह भी पढ़ें: लोकतंत्र बचाओ’ रैली के जरिए दमखम दिखाने की कोशिश, जयंत चौधरी समेत कई नेताओं ने योगी सरकार पर साधा निशाना

पुलिस की ओर से बताया गया कि बच्ची ने पहले तो अपहरण और दुष्कर्म की घटना बताई, लेकिन जब उससे और ज्यादा पूछताछ की गई तो उसने बताया कि उसे ट्यूशन में जो होमवर्क मिला था वह पूरा नहीं कर पायी। इसलिए उसने यह बात घरवालों को बताई। इंस्पेक्टर ब्रजेश कुमार शर्मा का कहना है कि होमवर्क से बचने के लिए बच्ची स्वयं अपनी नानी के यहां चली गई थी। बाद में बच्ची की इस हरकत पर परिजनों ने पुलिस से माफी भी मांगी। यह बच्ची कुछ दूर रहने वाली अपनी नानी के घर पहुंची और बताया कि उसे दो युवक कार से ले गए और दुष्कर्म किया। नानी ने बच्ची के पिता को फोन कर यह जानकारी दी। पुलिस ने जब जांच शुरू की तो सच्चाई सामने आयी। इस घटना से परिजन भी हैरान हैं और पुलिस भी। दरअसल, इन दिनों टीवी चैनल्स पर हाथरस केस की कवरेज जिस तरह से दी जा रही है, उसका प्रभाव बच्चों पर भी पड़ रहा है। इसलिए आठ साल की बच्ची ने भी होमवर्क से बचने के लिए यह कहानी गढ़ दी।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here