बिकरू कांड में SIT की रिपोर्ट के बाद DIG निलंबित, SSP को कारण बताओ नोटिस

कानपुर के ​बिकरू कांड को लेकर गठित एसआईटी की रिपोर्ट के आधार पर अपराधी विकास दुबे और डीआईजी अनंत देव के बीच गहरी सांठगांठ के सबूत मिले हैं। इस ​आधार पर शासन ने डीआईजी को निलंबित कर दिया है और उस समय के एसएसपी दिनेश कुमार पी को कारण बताओ नोटिस भेजा है।

0
143

लखनऊ। बिकरू कांड (Bikru Case) में एसआईटी की रिपोर्ट (Bikru Kand SIT Report) मिलने के बाद शासन ने कानपुर (Kanpur) के पूर्व एसएसपी-डीआईजी अनंत देव (Anant Dev Suspend) को निलंबित कर दिया है। साथ ही तत्कालीन एसएसपी (SSP Kanpur) दिनेश कुमार पी, जो मौजूदा समय में झांसी में तैनात हैं, को भी नोटिस भेजा है। अनंत देव पर एसआईटी ने गंभीर टिप्पणी की थी और शासन से कार्रवाई की सिफारिश की थी। इस मामले में कुछ और अफसरों पर जल्द कार्रवाई हो सकती है।

यह भी पढ़ें: West UP में Diwali से पहले बढ़ी ठंड, अब दिन के तापमान में भी आयी गिरावट

एसआईटी को अपनी जांच में अनंत देव और विकास दुबे के बीच सांठ-गांठ के पुख्ता सुबूत मिले थे। सीओ देवेंद्र मिश्रा द्वारा लगातार शिकायत के बाद भी अनंत देव ने चौबेपुर के एसओ के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। इसके अलावा विकास द्वारा अर्जित कराई गई अवैध संपत्तियों में भी अनंत देव का कनेक्शन मिला। एसआईटी ने अपनी जांच में पाया कि अनंत देव लगभग दो साल तक कानपुर नगर के एसएसपी रहे।

यह भी पढ़ें: CCSU Meerut: छात्र-छात्राओं को डिजिटल प्लेटफार्म पर मजबूत करने की ​कवायद, कुलपति ने कही बड़ी बात

विकास दुबे केअलावा विकास दुबे के दाहिने हाथ जय वाजपेई और अनंत देव के रिश्तों की बात भी रिपोर्ट में कही गई जिसमें पैसों के लेन-देन का भी जिक्र है। एसआईटी ने अपनी 3200 पेज की रिपोर्ट में कुल 75 से अधिक पुलिस कर्मियों व प्रशासन के लोगों को दोषी पाया था और उनके खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश प्रदेश सरकार से की थी। अनंत देव के अलावा एसएसपी कानपुर नगर रहे दिनेश कुमार पी. के खिलाफ भी कार्रवाई की सिफारिश की गई है। सरकार ने दिनेश पी. से एसआईटी द्वारा पाए गए तथ्यों पर स्पष्टीकरण मांगा है। वहीं अपर पुलिस अधीक्षक रहे प्रद्युमन सिंह के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की सिफारिश की गई थी, जिसे सरकार ने मंजूर कर लिया है।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here