दुष्कर्म और हत्या के मुकदमे से बचने के लिए अपनी मौत की रची साजिश, पत्नी और दोस्त के साथ ऐसे पकड़ा गया

बुलंदशहर में एक सनसनीखेज मामला सामने आया है जिसमें खुद की मौत दर्शाकर अदालत में चल रहे मुकदमे से बचने का प्रयास किया गया, लेकिन पुलिस ने सूझबूझ से राज खुल गया। पुलिस ने पति, पत्नी और पति के दोस्त को गिरफ्तार किया है।

0
163

बुलंदशहर। खुद को अदालत (Court) से बचाने के लिए अपनी मौत की साजिश रचने वाले व्यक्ति को पत्नी और दोस्त के साथ गिरफ्तार कर लिया गया है। तीनों आरोपियों पर एक निर्दोष की हत्या (Murdered Innocent Man) का आरोप करने और ​साजिश रचने का आरोप लगा है। पुलिस (Police) के अनुसार इस व्यक्ति की हत्या करने से पहले आरोपी ने खुद के कपड़े मृतक को पहनाए। इसके बाद शव के पास अपना आधार कार्ड (Aadhar Card) भी डाल दिया। फिर पत्नी ने भी कपड़ों के जरिए शव अपने पति का होने की बात कही थी। जब पुलिस ने जांच की तो महिला के पति को ​अलीगढ़ (Aligarh) के एक गांव से गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद पुलिस साजिश में आरोपी के दोस्त को भी गिरफ्तार किया।

यह भी पढ़ें: Bhim Army Chief चंद्रशेखर आजाद पर मुकदमा, धारा 144 और महामारी एक्ट के खिलाफ जाने के आरोप

सोमवार को ​पुलिस लाइन सभागार में एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने पत्रकार वार्ता में बताया कि 24 सितंबर को छतारी क्षेत्र के गांव बहलोलपुर के जंगल में एक व्यक्ति का शव मिला था। लाश के पास एक आधार कार्ड मिला। आधार कार्ड के जरिए शव की पहचान राजकुमार निवासी दिनावली थाना अकराबाद जनपद अलीगढ़ के रूप में हुई। पुलिस राजकुमार के घर पहुंची और राजकुमार की पत्नी अनीता देवी को मृतक के कपड़े और आधार कार्ड दिखाया। पत्नी अनीता ने मृतक की पहचान अपने पति के रूप में की। बाद में पुलिस ने मोर्चरी पर भी पत्नी अनीता को शव दिखाया। इस दौरान भी उसने राजकुमार के रूप में अपने पति की पहचान की। इसके बाद ​पुलिस को सूचना मिली कि राजकुमार जिंदा है और उसने खुद को मृत दर्शाने के लिए निर्दोष की हत्या कर दी।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रशीद मसूद का निधन, कोरोना से पीड़ित थे पूर्व केन्द्रीय मंत्री

इसके बाद पुलिस ने पत्नी अनीता को हिरासत में ले लिया और कड़ी पूछताछ की। अनीता की निशानदेही पर राजकुमार को अलीगढ़ के गांव रूस्तमगढ़ी से गिरफ्तार कर लिया गया। राजकुमार ने बताया कि उस पर हत्या एवं दुष्कर्म का मुकदमा चल रहा है। इस मुकदमे से बचने के लिए उसने अग्रसेन चौक अलीगढ़ से एक व्यक्ति को पकड़ा और उसे लालच दिया कि वह उसे 500 रुपये देगा। उसे छतारी के जंगल में लाने के बाद दरांती से गला काटकर हत्या कर दी। इस वारदात में राजकुमार का दोस्त धर्मेंद्र भी शामिल रहा। जिसकी हत्या की गई है, उसकी अभी पहचान नहीं हुई है। आरोपी राजकुमार की पत्नी अनीता ने पहचान करने के बाद अंजान का अंतिम संस्कार भी कर दिया था। इसके बाद वह थाने जाकर ​पोस्टमार्टम रिपोर्ट व ​अन्य कागजात  मांगती थी।

यह भी पढ़ें: Jayant Chaudhary पर लाठीचार्ज के विरोध में RLD कार्यकर्ताओं ने किया हंगामा, हाइवे पर मुख्यमंत्री का पु​तला फूंका

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here