meerut: दिनदहाड़े कोयला व्यापारी की हत्या, कहीं रंजिशन तो नहीं हुआ व्यापारी का मर्डर ?

जिस कार्यालय में बदमाशों ने व्यापारी को ताबड़तोड़ गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया, उसका दो दिन पहले ही उद्घाटन हुआ था

0
93

meerut:  जिले में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दौरान पुलिस सुरक्षा के चाक-चौबंद दावों की पोल खोलते हुए ब्रह्मपुरी थाना क्षेत्र में बदमाशों ने दिनदहाड़े कोयला व्यापारी की गोली मारकर हत्या कर दी। घटना के समय कोयला व्यापारी अपने बेटे आयुष के साथ ऑफिस पर बैठे हुए थे। घटना की जानकारी मिलते ही अधिकारियों में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में मौके पर पहुंचे सीओ सहित अन्य अधिकारियों ने घटना के जल्द खुलासे का दावा किया है।

meerut: सुभारती मेडिकल कॉलेज में रेमडीसीवर इंजेक्शन की कालाबाजारी का खुलासा, वार्ड बॅाय सहित आठ कर्मचारी गिरफ्तार

दरअसल, मूल रूप से सरधना के रहने वाले अरुण कुमार जैन पुत्र कुंदन लाल जैन पिछले काफी समय से अपने परिवार के साथ मेरठ के पंजाबीपुरा में रह रहे थे। अरुण कोयले के थोक व्यापारी थे। उनका ऑफिस ध्यानचंद नगर के सेक्टर ए में पारसनाथ मार्केटिंग में है। बताया गया कि सोमवार को अरुण अपने बेटे आयुष के साथ बिल्डिंग के फर्स्टफ्लोर पर स्थित अपने ऑफिस में बैठे हुए थे। वहीं ऑफिस का मुनीम रोहित ऑफिस के गेट पर बैठा था। रोहित के मुताबिक, इसी दौरान वहां पहुंचे दो हमलावरों ने अरुण पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी।अरुण को गोली मारने के बाद हमलावर मौके से फरार हो गए।

मचा हड़कंप

घटना के चलते मार्केट में हड़कंप मच गया। आयुष और अन्य व्यापारी घायल अरुण को लेकर केएमसी अस्पताल पहुंचे। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। घटना की जानकारी के बाद सीओ ब्रह्मपुरी अमित राय सहित थाने की पुलिस और फोरेंसिक टीम भी मौके पर पहुंची। पुलिस ने अरुण की लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेजते हुए मामले की जांच शुरू कर दी है। घटना के बाद मौके पर पहुंचे सीओ ब्रह्मपुरी अमित राय ने पूछताछ के बाद बताया कि दो हमलावर युवक मुंह पर गमछा लगाए हुए थे। बताया जाता है कि हमलावरों ने ऑफिस में घुसते ही ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी, हमलावर अरुण जैन की हत्या करके मौके से फरार हो गए।

दो दिन पहले ही हुआ था उद्घाटन 

आपको बता दें कि जिस ऑफिस में हत्या को अंजाम दिया गया उसका उद्घाटन दो तीन दिन पहले ही हुआ था,जिसकी अभी सीसीटीवी कैमरे भी चालू नही हुए थे । जिस कारण पुलिस को अन्य पास के कार्यालयों व दुकानों के सीसीटीवी खंगालने पड़ रहे हैं। समाचार लिखे जाने तक पुलिस के हाथ कोई सफलता नहीं लग सकी थी।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here