12 दिन से लापता व्यापारी पंजाब के आश्रम से बरामद, पुलिस ने फिर भी उसे कर लिया गिरफ्तार, जानिए पूरी कहानी

17 अक्टूबर को मेरठ के दौराला का व्यापारी लापता हो गया था। वह खुर्जा जाने की बात कहकर बाइक से निकला था। पंजाब के एक आश्रम से पुलिस के पास फोन आया तो पूरा मामला खुल गया। पुलिस ने बरामद व्यापारी को गिरफ्तार कर लिया।

0
179

मेरठ। जनपद के दौराला से 12 दिन से लापता व्यापारी पुलिस ने बरामद कर लिया है। वह 17 अक्टूबर से खुर्जा जाने की बात कहकर घर से निकला था, लेकिन घर वापस नहीं पहुंचा। व्यापारी परिजन आए पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठा रहे थे और धरने दे रहे थे। फिर एक कॉल पंजाब के रोपड़ के आश्रम से पुलिस के पास आयी। पुलिस ने व्यापारी को बरामद कर लिया। व्यापारी ने जो कहानी सुनाई, पुलिस ने जांच की तो वह झूठी निकली। इसके बाद व्यापारी को गिरफ्तार कर लिया गया।

यह भी पढ़ें: Meerut: रसोई गैस सिलेंडर फटने से उड़ी छत, कांग्रस नेता समेत दो की मौत, सात घायल

पुलिस ने बताया कि दौराला कस्बा निवासी कृपाल कश्यप परचून दुकानदार है। 17 अक्टूबर को कृपाल अपने परिजनों से खुर्जा में किसी व्यक्ति को उधार दिए रूपयों को लेने जाने की बात कहकर बाइक से गया था। उसके बाद से कृपाल का पता नहीं चला। परिजनों ने थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई थी। कृपाल का कोई सुराग न लगने की वजह से परिजन और रिश्तेदार थाने में हर रोज आते और धरना देते थे। कृपाल की बेटी ने आत्मदाह तक की धमकी दी थी। दो दरोगाओं के साथ पुलिस टीम कृपाल की तलाश में जुटी थी। पुलिस को कृपाल की बाइक खुर्जा देहात में खड़ी बरामद हुई थी।
आज पंजाब रोपड़ स्थित आश्रम से एक संत का फोन इंस्पेक्टर दौराला के मोबाइल पर आया। जिसमें संत ने कहा कि कृपाल नाम का एक व्यक्ति उनके आश्रम में है, वह अपने को दौराला का निवासी बता रहा रहा।

यह भी पढ़ें: Muzaffanagar: घर में खुशी के माहौल के बीच पत्नी ने कर लिया सुसाइड, दो साल पहले हुई थी शादी

पुलिस टीम कृपाल के परिजनों को लेकर रोपड़ आश्रम में पहुंची, जहां मौजूद व्यक्ति की पहचान कृपाल के रूप में हुई। पुलिस टीम कृपाल को अपने साथ ले आई। पूछताछ में कृपाल ने बताया कि खुर्जा से उसे कुछ लोगों ने नशीली चाय पिलाकर बेहोश कर दिया, फिर उसे बदांयू, बरेली, रूद्रपुर से हरिद्वार पहुंचा था। होश आते ही फिर नशीली चाय पिला देते थे। हरिद्वार में उसे कुछ श्रद्धालू मिले, जो कृपाल को पंजाब के रोपड़ आश्रम ले गए। दौराला इंस्पेक्टर किरणपाल सिंह ने बताया कि पूरे प्रकरण में कृपाल मनगढ़ंत कहानी बनाकर सुना रहा है। कोई भी ऐसा सबूत नहीं मिला, जिसे तय हो सके कि उसका अपहरण हुआ है। झूठी कहानी बनाने और पुलिस को परेशान करने के आरोप में कृपाल को गिरफ्तार किया है, उसे जेल भेजा जाएगा।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here