Meerut: एंटी करप्शन टीम ने बिछाया ऐसा जाल कि ​कानूनगो 20 हजार रिश्वत लेते धरा गया

किसान से 20 हजार रुपये की रिश्वत लेनी कानूनगो को महंगी पड़ गई। एंटी करप्शन टीम ने शुक्रवार की देर शाम पल्लवपुरम के चकबंदी आफिस में तैनात कानूनगो राजेश को रंगे हाथ दबोच लिया।

0
203

मेरठ। किसान से 20 हजार रुपये की रिश्वत लेनी कानूनगो को महंगी पड़ गई। एंटी करप्शन टीम ने शुक्रवार की देर शाम पल्लवपुरम के चकबंदी आफिस में तैनात कानूनगो राजेश को रंगे हाथ दबोच लिया। टीम ने इसकी जानकारी पुलिस को दी। पुलिस उसे गिरफ्तार करके थाने ले आयी। कानूनगो से पूछताछ की जा रही है।

यह भी पढ़ें: Munna Bajrangi Murder Case: बैरक में खुदाई के दौरान ​सीबीआई को मिली ऐसी चीज, जिसे देखकर चौंक गए सभी

फलावदा क्षेत्र के गांव गड़ीना के नरेंद्र कुमार ने बताया कि उसके पास 50 बीघा जमीन है। चकबंदी के लिए उसके खेतों की पैमाइश की गई थी। कानूनगो राजेश ने मूल जोत 883 में 510 वर्ग मीटर जमीन कम कर दी। जमीन पूरी करने के लिए उन्होंने कानूनगो से कहा तो उसने बीस हजार रुपये की रिश्वत मांगी। दोनों के बीच तय हुआ कि 10 हजार ​रुपये काम होने से ​पहले और दस हजार ​रुपये काम होने के बाद मिलेंगे।

यह भी पढ़ें: सिपाही ने दरोगा को गोली मारकर खुद को भी मारी गोली, छुट्टी न मिलने से परेशान था सिपाही

इसको लेकर किसान ने एंटी करप्शन टीम से बात की। एंटी करप्शन ने कानूनगो को रंगे हाथ दबोचने के लिए जाल बिछाया। शुक्रवार की देर शाम कानूनगो ने किसान को रुपये लेकर पल्लवपुरम ओवर ब्रिज के नीचे बुलाया। जहां किसान की शिकायत पर पहले से ही एंटी करप्शन की टीम मौजूद थी। जैसे ही किसान ने कानूनगो को रुपये दिए तो एंटी करप्शन की टीम ने कानूनगो को रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। टीम की सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और आरोपी कानूनगो को थाने ले आयी। पुलिस ​और एंटी करप्शन की टीम कानूनगो से पूछताछ कर रही है।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here