44 दिन बाद भी नहीं मिली बेटे की लाश, थक-हारकर भूख हड़ताल पर बैठी मां

0
322

मेरठः बेटे के मर्डर के 44 दिन बाद भी जब इंसाफ नहीं मिला तो थक हारकर मां भूख हड़ताल पर बैठ गई। आरोप है कि कोई ऐसा नेता या अधिकारी नहीं बचा जिससे वह इंसाफ की गुहार न लगा चुकी है। जब कहीं इंसाफ  नहीं मिला तो वह भूख हड़ताल पर बैठ गई। हालाकि लाचार मां की अभी सुनने वाला कोई नहीं है।

जन्मदिन की पार्टी देने के बाहने बुलाकर किया था मर्डर

44 दिन पहले रूपक नाम के युवक की उसके साथियों ने घर से बुलाकर हत्या कर दी थी। जिस दिन रूपक की हत्या की गई उस दिन उसके एक मित्र का जन्मदिन था। उसको जन्मदिन की पार्टी देने के लिए ही घर से बुलाया गया था। पहले तो आरोपियों ने रूपक की हत्या की उसके बाद उसके टुकड़े-टुकड़े करके उसको बोरवेल में डाल दिया था। पुलिस आरोपियों को पकड़ कर जेल भेज चुकी है लेकिन अभी तक भी पुलिस की तफ्तीश में सही जानकारी वह आरोपियों से नहीं ले पाई है । 44 दिन में भी पुलिस आरोपियों द्वारा बताई गई जगह से रूपक के अवशेष तक नहीं तलाश पाई है। बेटे की लाश ना मिलने से परेशान मां लगातार दर-दर की ठोकरें खा रही है। लेकिन कहीं से भी उसको मदद मिलती नजर नहीं आ रही रूपक की माँ कहना है कि जब वह  पुलिस से बेटे के शव के अवशेष देने के लिए कहती है तो  उसके साथ पुलिस का व्यवहार काफी निंदनीय है।

Meerut: शहर में चल रहा था हुक्का बार, पुलिस पहुंची तो निकलकर भागे युवक-युवतियां

घर में घुसकर पीटने का आरोप

भूख हड़ताल पर बैठी मृतक रुपक की मां का आरोप है कि पुलिस ने उल्टा उसके  घर में घुसकर सभी को लाठियों से पीटा और उन्हें गाड़ी में डालकर थाने ले गए। साथ ही उनके साथ दुर्रव्यवाहर किया। आरोप है कि पुलिस उनसे चुप बैठने के लिए कह रही है। रुपक की मां ने चेतावनी दी है यदि उसे न्याय नहीं मिलता है तो वह भूख से दम तोड़ दे देगी। मामले में एसएसपी का कहना है कि संबंधित थाने को मामले की जांच कर कार्रवाई के लिए कहा गया है। जल्द ही केस को वर्कआउट करने के भी निर्देश दिए गए हैं।

 

 

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here