शोषित क्रांति दल ने हाथरस की बिटिया को दी श्रद्दांजलि, कैंडल मार्च निकाला

0
233

मेरठ। हाथरस की दुष्कर्म पीड़िता की मौत पर पूरा देश आक्रोशित है। हर किसी की जुबान पर है पुलिस की कार्यशैली को लेकर कई सवाल है। दरिंदो की शिकार दुष्कर्म पीड़िता की मौत पर शोषित क्रांति दल ने कैंडल मार्च निकालकर श्रद्याजंलि दी।
शोषित क्रांति दल के कार्यकर्ता सैंकड़ों की तादाद में भूमिया पुल पर एकत्र हुए और हाथरस की दुष्कर्म पीड़िता की मौत पर शोक व्यक्त किया। कार्यकर्ता भूमिया पुल से कैंडल मार्च निकालते हुए मेट्रो प्लॉजा स्थित डाक्टर भीमराव अम्बेडकर प्रतिमा पर पहुंचे। कार्यकर्ताओं ने आरोपियों को फासी देने और फास्टट्रेक कोर्ट में केस चलाने तथा दोषी पुलिस अफसरों और अधिकारियों पर मुकदमा चलाने की मांग की। उन्होंने कहा कि बुलन्दशहर, आजमगढ़ मेरठत्र राजस्थानत्र बलरामपुर में महिलाओं और बच्चियों को साथ होने वाली दुष्कर्म की घटनाओं में राज्य सरकार अनदेखा कर रही है। हाथरस और बलरामपुर में दुष्कर्म पीड़िता के शव जानबूझकर जल्दी जलाये गये। जिसकी घोर निंदा शोषित क्रांतिदल करता है। कैंडल मार्च के मौके पर वरुण जाटव, चन्द्रभान जाटव एडवोकेट, शुभम सिंधी, सुमित जाटव, रवि पार्चा, मयंक वर्मा, गब्बर ठेकेेदार, मनीष जाटव, सौरभ सिंधी, सुनील जाटव आदि अनेक कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here