दरोगा की पत्नी दर्ज करवा रही झूठे मुकदमे, पीड़िता ने एसएसपी के यहां लगार्ई गुहार

0
241

मेरठ। किठोर की रहने वाली एक युवती ने दरोगा की पत्नी द्वारा लगाये गये झूठे मुकदमे की जांच की मांग एसएसपी से की है।
किठोर निवासी एक युवती एसएसपी कार्यालय पर पहुंची। युवती ने एसएसपी को दिये प्रार्थनापत्र में बताया कि वर्ष 2018 अप्रैल माह में दरोगा नरेन्द्र और उसकी पत्नी व साले पर पर पल्लवपुरम थाने पर दुष्कर्म जैसी गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ था। जिसमें नरेन्द्र दरोगा को पुलिस ने गिरफ्तार कर ​जेल भेज दिया था।
पीड़िता ने बताया कि जब नरेन्द्र जेल गया तो उसकी पत्नी नीतू ने जून माह 2018 मे उस पर व उसके भाई पर ब्लात्कार का झूठा केस दर्ज करवा दिया था। जिसमें वह करीब तीन माह तक जेल में रही थी। करीब डेढ़ वर्ष बीतने के बाद एक दिन 26 फरवरी वर्ष 2020 को वह स्कूटी से जा रही थी तो दरोगा की पत्नी व दो अन्य ने उस पर तेजाब डाल दिया था। जिसका मुकदमा सिविल लाइन थाने में दर्ज कराया गया था।
पीड़िता का कहना है ​कि जब उसका भाई 19 मार्च 2020 को जेल से छूटकर आया तेा दरोगा की पत्नी नीतू ने 21 मार्च को उस पर व उसके भाई पर ब्लात्कार का दूसरा झूठा मुकदमा सिविल लाईन थाने में दर्ज करवा दिया। पीड़िता ने बताया कि नरेन्द्र यूपी पुलिस में दरोगा है इसलिए उसने अपने प्रभाव से पुलिस से मिलकर उस पर फिर से झूठा मुकदमा दर्ज करवा दिया। दूसरे मुकदमे में वह दूसरी बार लॉकडाउन के शुरु में वह जेल चली गई।
पीड़िता ने एसएसपी से गुहार लगाते हुए कहा है कि उस पर व उसके भाई पर झूठे मुकदमे पुलिस लगा रही है। नरेन्द्र दरोगा अपने मुकदमे में दबाव बनाने के लिए उस पर अपनी पत्नी से झूठे मुकदमे दर्ज करवा रहा है। इन झूठे मुकदमों की जांच निष्पक्ष तरीके से की जाये। पीड़िता ने मामले की जांच सीबीआई और उच्च स्तर से कराने की बात कही है।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here