चरस अफीम भांग नशे का कारोबार करने वाले मुख्य आरोपी पुलिस की गिरफ्त से दूर

0
305

मेरठ। लालकुर्ती में नशे की बड़ी खेप मिलने के बाद पुलिस ने चार आरोपियों को मौके से गिरफ्तार किया था। लेकिन दो मुख्य आरोपियों को पुलिस अभी भी गिरफ्तार नहीं कर पाई है।
सदर कैंट सर्किल के एएसपी डाक्टर ईरज राजा ने लालकुर्ती क्षेत्र बड़ा बाजार स्थित एक मकान और दुकान में छापा मारते हुए दो कुन्तल अफीम गांजा और 35 किलो चरस बरामद की थी। मौके से पुलिस ने चार आरोपियों को रंगेहाथ गिरफ्तार किया था। जिन्होंने अपने राजकुमा, जुगल किशोर, रतन, सतेन्द्र बताये थे। पकड़े गये आरोपियों ने पुलिस पूछताछ में अपने बड़े आकाओं के नाम उजागर किये थे। जिनमें सतेन्द्र और राज चौहान मुख्य थे। सतेन्द्र और राजू चौहान नशे के बड़े कारोबारी है। राजू चौहान के भांग के ठेके थे। इसके अलावा शराब के ठेकों में भी उसकी हिस्सेदारी थी। राजू चौहान नशे का कारोबार बड़े पैमाने पर करता है। वह अपने इस नशीले कारोबार को सुरक्षित रखने के लिए सत्ता के गलियारों में भी पैंठ बनाये रखता है।
जब लालकुर्ती पुलिस ने राजू चौहान की इस नशे की खेप पर छापा मारकर उसका नाम भी केस में शामिल किया था। पुलिस केस में नाम आने पर सत्ता के एक विधायक ने पुलिस के बड़े अधिकारी को फोन कर मामले में हस्तक्षेप किया था।
कई दिना चार दिन बीतने को है लालकुर्ती पुलिस नशे के इन कारोबारी सतेन्द्र और राजू चौहान को गिरफ्तार नहीं कर रही है। पुलिस का दावा है कि जल्दी ही दोनों की गिरफ्तारी कर ली जायेगी। लेकिन प्रतीत होता है कि पुलिस जानबूझकर दोनों की गिरफ्तारी करने में ढील दे रही है।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here