गाजियाबाद पुलिस हत्यारोपियों की नहीं कर रही गिरफ्तारी, आईजी एडीजी के आदेश ठेंगे पर

0
294

———परिजनों ने दी विधानसभा के सामने धरने की चेतावनी
———मेरठ के दलित व्यक्ति की हत्या का मामल़ा
मेरठ। प्रदेश में दलितों के साथ अपराधिक घटनाएं निरंतर बढ़ रही हैं। लेकिन प्रदेश सरकार दलितों के साथ होने वाली घटनाओं पर चुप्पी साधकर बैठी है। पुलिस अफसर भी हत्या जैसी घटनाओं में आरोपियों की गिरफ्तारी करने में कोताही बरत रहे हैं। मेरठ के इंचौली क्षेत्र निवासी एक द​लित व्यक्ति की हत्या को छह महीने बीत गये लेकिन अभी तक उसके हत्यारों की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। शोषित क्रांति दल ने हत्यारोपियों की गिरफ्तारी की मांग मुख्यमंत्री से की है।
शोषित क्रांति दल ने इंचौली थाना क्षेत्र नंगली निवासी निरंजन की हत्या में आरोपियों की गिरफ्तारी न होने पर गाजियाबाद कलेक्ट्रेट जुलूस निकाला और धरना प्रदर्शन किया। शोषित क्रांति दल ने मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन जिला मजिस्ट्रेट को सौंपा और हत्यारोपियों की गिरफ्तारी की मांग की। शोषित क्रांति दल के साथ आये मृतक निरंजन के बेटे परमजीत सिंह ने बताया कि पिता की हत्या को हुए छह महीने हो गये लेकिन निवाड़ी थाना पुलिस ने आज तक कोई गिरफ्तारी नहीं की।
निरंजन सिंह के हत्यारोपियों की गिरफ्तारी न होने पर शोषित क्रांति दल ने शुक्रवार को पहले प्रेसवार्ता की। शोषित क्रांति दल के अध्यक्ष रविकांत ने प्रेसवार्ता के दौरान बताया कि इंचौली ग्राम नंगली निवासी निरंजन सिंह की हत्या अप्रैल में हुई थी। जिसका मुकदमा निवाड़ी थाने में दर्ज है। हत्यारोपियों की गिरफ्तारी न होने पर पीड़ित पक्ष और शोषित क्रांति दल ने आईजी प्रवीण कुमार और एडीजी जोन राजीव सब्बरवाल के यहां शिकायत की थी। जिसमें दोनों अफसरों ने एसएसपी गाजियाबाद को हत्यारोपियों की गिरफ्तारी के आदेश दिये थे। लेकिन आज तक किसी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है।
अध्यक्ष रविकांत का कहना है कि गाजियाबाद पुलिस की हत्यारेापियों से सांठगांठ है। गाजियाबाद पुलिस एक दलित व्यक्ति की हत्या को नजरअंदाल कर रही है। अध्यक्ष ने कहा है​ कि वह दलित हत्या में गाजियाबाद पुलिस की मनमानी नहीं चलने देगें। हत्यारोपियों की गिरफ्तारी होनी चाहिये। गवाहों के नारको पॉलीग्राफ टेस्ट भी होना चाहिये। मृतक के परिजनों ने हत्यारोपियों की गिरफ्तारी न होने पर 18 अक्टूबर को लखनउ विधान सभा के सामने अनिश्चितकालीन धरना देने की घोषणा की है।
मेरठ के इंचौली थाना क्षेत्र गांव रामपुर साधो नंगली निवासी निरंजन सिंह की निवाड़ी मोदीनगर थाना क्षेत्र गांव बनहैडा में ईंट भटृे पर 21 अप्रैल को कुछ लोगों ने हत्या कर दी थी। हत्यारे निरंजन की लाश को एक गाड़ी में डालकर लाये और उसके घर यह कहकर छोड़ गये कि इसकी हार्टअटैक से मौत हुई है।
एसएसपी गाजियाबाद नहीं सुनते सामाजिक संगठनों की
—शोषित क्रांति दल अध्यक्ष रविकांत ने बताया कि उक्त घटना में वे एसएसपी गाजियाबाद से मिलने उनके कार्यालय पर गये थे। उन्होंने एक पर्ची पर संगठन का नाम लिखकर पीड़ित प​क्ष के मिलने की बात कही थी। लेकिन एसएसपी ने अंदर से ही मिलने से मना कर दिया था। अध्यक्ष रविकांत का कहना है कि एसएसपी हत्यारोपियों को बचा रहे हैं।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here